Jayant Chaudhary ने कहा- रालोद का सिर्फ सपा-बसपा से ही गठबंधन

लखनऊ। आज कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात के बाद राष्ट्रीय लोकदल के कांग्रेस से गठबंधन पर लग रहे कयासों को रालोद उपाध्यक्ष Jayant Chaudhary ने खारिज किया है।

सपा-बसपा के गठबंधंन और कांग्रेस के अकेले लड़ने के फैसले के बाद अन्य दलों पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपनी पकड़ रखने वाले राष्ट्रीय लोकदल को लेकर अफवाहों का बाजार गरम था। अटकलों पर विराम लगाते हुए पार्टी की बागडोर संभाल रहे Jayant Chaudhary ने साफ कर दिया कि वह आने वाले चुनावों में सपा और बसपा के साथ ही खड़े दिखाई देंगे। राष्ट्रीय लोक दल के जयंत चौधरी ने साफ कर दिया गया है कि वह समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी के साथ ही चलेंगे।

Jayant Chaudhary letter
Jayant Chaudhary letter

पार्टी द्वारा जारी पत्र में कहा गया कि राष्ट्रीय लोकदल भाजपा सरकार के किसान,युवा, दलित विरोधी नीतियों के विरोध के लिए प्रभावी विपक्षी एकता के पक्ष में लगातार काम कर रहा है। सपा-बसपा के साथ गठबंधन करके ही जनता की उम्मीदों के अनुरूप मजबूत राजनीतिक विकल्प तैयार किया जा सकता है।

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में गहमा गहमी का माहौल है। सपा-बसपा के गठबंधंन और कांग्रेस के अकेले लड़ने के फैसले के बाद अन्य दलों पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं।

उन्होंने एक पत्र जारी कर कहा कि हम सपा-बसपा गठबंधन के साथ हैं। सपा-बसपा गठबंधन ही जनता को युवा व किसान विरोधी भाजपा के खिलाफ एक मजबूत विकल्प दे सकता है। इस संबंध में पहले ही पार्टी अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने कार्यकर्ताओं को निर्देशित कर गठबंधन के लिए काम करने का आह्वान किया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में सपा-बसपा 38-38 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगी जबकि बाकी सीटें गठबंधन के अन्य सहयोगियों को दी जाएंगी।

रालोद गठबंधन में छह सीटों की मांग कर रहा है। इस संबंध में जयंत ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी और कहा था हमारे बीच सबकुछ ठीक है। हमारे लिए सीटों की संख्या नहीं बल्कि रिश्ते अहम हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »