जन्माष्टमी: मथुरा में सीएम योगी का संकल्‍प, ब्रज के विकास में कसर नहीं छोड़ेंगे

मथुरा। भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा में आज जन्माष्टमी की धूम मची है, कान्हा के जन्मोत्सव का साक्षी बनने के लिए जहां लाखों भक्त ब्रज में डेरा डाले हुए हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी श्रीकृष्णोत्सव में शामिल होने के लिए यहां पहुंचे।

मुख्यमंत्री योगी सोमवार दोपहर को करीब तीन बजे मथुरा पहुंचे। उनका हेलीकॉप्टर ओम पैराडाइज मैरिज होम में बनाए गए हैलीपैड पर उतरा। यहां से वह कार्यक्रम स्थल रामलीला मैदान के लिए रवाना हुए। यहां मुख्यमंत्री ने ब्रज के संतों को सम्मानित किया। इसके बाद कार्यक्रम को संबोधित किया।

जन्माष्टमी: मथुरा में सीएम योगी का संकल्‍प, बोले- ब्रज के विकास में कसर नहीं छोड़ेंगे
जन्माष्टमी: मथुरा में सीएम योगी ने संतों को सम्मानित किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर में कान्हा के दर्शन किए। वह यहां करीब दो घंटे तक रुके। इस दौरान उन्होंने संतों को सम्मानित किया।

कृष्णोत्सव कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने कहा, ‘पांच हजार साल पूर्व भगवान ने स्वयं अवतार लिया और योगमाया भी प्रकट हुईं. जन्माष्टमी के अवसर पर यहां आने और उत्सव में शामिल होने की तीन वर्षों की साधना अब पूरी हुई। मुख्यमंत्री के भाषण से पहले ब्रज तीर्थ विकास परिषद की ओर से किए गए विकास कार्यों की डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई।

योगी आदित्यनाथ ने भारत माता की जय के साथ अपने संबोधन की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि वह पहली बार श्रीकृष्‍ण जन्मोत्सव में शामिल हुए। इस अवसर का तीन वर्षों से इंतजार था। पहले वर्ष 2019 में आगरा तक आया था। केंद्रीय मंत्री के निधन के कारण मथुरा नहीं आ सका। इस वर्ष कोरोना वायरस नियंत्रण में है, लेकिन सावधानी बेहद जरूरी है।

बिहारीजी से कोरोना के सर्वनाश की कामना 
उन्होंने कहा कि अब बिहारी लाल से यही कामना है कि कोरोना रूपी राक्षस का अंत करें। अनेकों ने अपने प्रियजनों को खोया है। उनके प्रति संवेदना है। उन्होंने कहा कि लापरवाही न करें तो महामारी बाल भी बांका नहीं कर सकती। कोरोना रूपी अदृश्य शत्रु से लड़ने की राह प्रधानमंत्री ने दिखाई है। सभी कोरोनागाइड लाइन का पालन करें।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ब्रज भूमि को पांच हजार वर्षों पूर्व का स्वरूप देने का प्रयास हो रहा है। वह ब्रज क्षेत्र के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। सभी जनप्रतिनिधि इस ओर प्रयासरत हैं। सांस्कृतिक विरासत हमारी पहचान है। अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर का निर्माण आरंभ हो गया है। आजादी के बाद पहले राष्ट्रपति हैं, जो अयोध्या का दर्शन करने पहुंचे।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *