Jamshedpur बनने जा रहा देश का पहला गोबर मुक्त शहर

जमशेदपुर। झारखंड का Jamshedpur शहर यूं तो भारत के सबसे प्रगतिशील औद्योगिक नगरों में से एक है, यहांं टाटा घराने की कई कंपनियों के उत्पादन इकाई जैसे टिस्को, टाटा मोटर्स, टिस्कॉन, टिन्पलेट, टिमकन, ट्यूब डिवीजन, इत्यादि यहाँ कार्यरत है मगर एक और उपलब्‍धि इसके नाम होने जा रही है। Jamshedpur देश का पहला गोबरमुक्त शहर बनने जा रहा है। इस दिशा में राज्य सरकार ने प्रयास तेज कर दिए हैं।

स्वच्छता को लेकर देशभर में अभियान जारी है। आए दिन प्रदूषण के कारण कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वातावरण में प्रदूषण की मात्रा बढ़ने के साथ ही लोगों में स्वास्थ्य समस्या की शिकायतें भी बढ़ रही है। झारखंड सरकार को शहरों में गाय के गोबर के कारण हो रहे प्रदूषण की काफी शिकायतें मिल रही थी। इस संबंध में उन्होंने एक नई घोषणा की है।

जानकारी के मुताबिक झारखंड सरकार ने जमशेदपुर को ‘देश का पहला’ गोबर मुक्त शहर बनाने का प्रयास शुरू कर दिया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। जेएनएसी के विशेष अधिकारी संजय कुमार पांडेय ने बताया कि जमशेदपुर नोटिफाइड एरिया कमेटी (जेएनएसी) ने हाल ही में इस सिलसिले में निविदा जारी की थी जिसे शुक्रवार को शहर की दो कंपनियों ने हासिल किया।

पांडेय ने दावा किया कि यह अपनी तरह की भारत में पहली परियोजना है। उन्होंने बताया, ’’हमें लगातार गोशाला और मवेशी मालिकों के खिलाफ लोगों से शिकायतें मिल रही थी कि शहर में यहां-वहां पड़े गोबर से उन्हें स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हो रही है।’’

जेएनएसी अधिकारी ने बताया कि Jamshedpur में 350 से ज्यादा गोशालाएं हैं और सभी अवैध तरीके से चल रही हैं। गोबर के निपटने के लिए उनके पास कोई उचित व्यवस्था नहीं है। पांडेय ने बताया कि जिन दो कंपनियों को निविदा दी गई है, वह पूरे शहर से गोबर जमा करेंगे और नियमित रूप से उचित तरीके से उसका निपटारा करेंगे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »