जम्‍मू-कश्‍मीर: Kulgam में मुठभेड़, दो आतंकवादी मारे गए

कुलगाम। अमरनाथ यात्रा से ठीक पहले जम्‍मू-कश्‍मीर के Kulgam जिले में तलाशी अभियान के दौरान रविवार सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है। सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। फिलहाल सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और मुठभेड़ जारी है। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी है।
डीजीपी वैद ने अपने ट्वीट में बताया कि आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच यह मुठभेड़ कुलगाम जिले के चाद्दर भान इलाके में हुई है।

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार को सुरक्षा बलों के साथ हुए मुठभेड़ में लश्कर – ए – तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह मुठभेड़ दोपहर Kulgam के एक गांव में उस समय शुरू हुई जब जम्मू – कश्मीर पुलिस , सीआरपीएफ और सेना 28 जून से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा से पहले एक राष्ट्रीय राजमार्ग को सुरक्षित बनाने के लिए अभियान चला रहे थे। सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ के बाद इंटरनेट सेवाएं बंद कर दिया गया है।

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही कश्मीर के अनंतनाग के श्रीगुफारा में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर हुआ था। इस मुठभेड़ में सेना ने 4 आतंकियों को मार गिराया। मारे गए आतंकियों का इस्लामिक स्टेट से कनेक्शन सामने आया था।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने आतंकियों के आईएसजेके (इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू-कश्मीर) से संबंधित होने की आशंका जताई थी। बताया जा रहा है कि मारे गए आतंकी कश्मीर के ही रहने वाले हैं। इस एनकाउंटर में आईएसजेके का नाम आने से सुरक्षा एजेंसियों के कान भी खड़े हो गए हैं। ऐसे में यह अशंका और तेज हो गई है कि इस्लामिक स्टेट जम्मू-कश्मीर में पैर पसारने की कोशिश कर रहा है।
मारे गए आतंकियों में आईएसजेके का चीफ दाऊद भी शामिल था। श्रीगुफारा मुठभेड़ में तीन आतंकियों का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी माना जा रहा है। बता दें कि इससे पहले पिछले साल नवंबर में जम्मू-कश्मीर के जकूरा में ही एक आतंकी हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ही ली थी। इस हमले में एक पुलिसकर्मी भी शहीद हुआ था। इसके बाद इस्लामिक स्टेट को लेकर भारतीय सुरक्षा एजेंसी सतर्क हो गई थी।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *