जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा में सेना ने मार गिराए दो आतंकवादी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में मंगलवार सुबह सेना के एक ऑपरेशन में दो आतंकवादियों को मार गिराया गया है। आतंकियों के खिलाफ यह कार्यवाही कुपवाड़ा जिले के गुलूरा गांव में की गई है। इस ऑपरेशन में मारे गए आतंकियों के पास से सेना ने दो एके-47 राइफल समेत कुछ अन्य सामान बरामद किए हैं। माना जा रहा है कि मुठभेड़ में मारे गए दोनों दहशतगर्द कुपवाड़ा में किसी आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए यहां पहुंचे थे, जिसके बाद सेना को खुफिया इनपुट्स से इनकी मौजूदगी की जानकारी मिली थी।
सूत्रों के मुताबिक सोमवार देर रात खुफिया एजेंसियों ने कुपवाड़ा के हंदवाड़ा इलाके में स्थित गुलूरा गांव में दो-तीन आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इस सूचना के बाद सेना की 30 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 92वीं बटालियन के जवानों ने इलाके में गहन तलाशी अभियान शुरू किया। इसी दौरान एक घर में छिपे आतंकियों ने इलाके में सख्त घेराबंदी को देखते हुए फायरिंग शुरू कर दी।
मंगलवार सुबह शुरू हुई थी मुठभेड़
इसके बाद सुबह करीब 4 बजे जवानों ने भी जवाबी कार्यवाही करते हुए आतंकियों के द्वारा ठिकाना बनाए गए घर के आसपास सख्त घेराबंदी की। इसके बाद करीब डेढ़ घंटे तक दोनों ओर से हुई गोलीबारी में सेना ने 2 आतंकियों को मौके पर मार गिराया।
इलाके में सेना का गहन तलाशी अभियान
मारे गए आतंकियों का शव बरामद करने के बाद सेना ने इनके द्वारा इस्तेमाल एके-47 राइफल और अन्य सामान जब्त किया। मारे गए आतंकी की पहचान बारामुला के सोपोर जिले के निवासी लियाकत और हंदवाड़ा निवासी फुरकान के रूप में की गई है। आतंकियों के खिलाफ इस कार्रवाई के बाद सेना के जवान गुलूरा और आसपास के कई इलाकों में गहन सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं, इसके अलावा हंदवाड़ा में तनाव को देखते हुए इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई गई है।
श्रीनगर में स्थानीय नागरिक की गोली मारकर हत्या
बता दें कि राज्य की राजधानी श्रीनगर में अज्ञात आतंकवादियों ने सोमवार की रात एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस बारे में पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि शहर के बाबादेंब क्षेत्र में आतंकवादियों ने अब्दुल अहद गनी (42) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृत गनी मूल रूप से कुपवाड़ा के लोलाब इलाके के रहने वाले थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »