जम्मू-कश्मीर: BJP के प्रदेश सचिव और उनके भाई की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ क़स्बे में गुरुवार देर रात BJP के प्रदेश सचिव अनिल परिहार और उनके भाई अजित परिहार की अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी.
ये घटना ज़िला डोडा के किश्तवाड़ क़स्बे में उस समय हुई जब अनिल और उनके भाई घर वापस लौट रहे थे. बताया जा रहा है कि अनिल और अजित पर बहुत नज़दीक से गोलियां चलाई गईं.
जम्मू-कश्मीर BJP के जनरल सेक्रेटरी अशोक कौल ने घटना की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि अनिल परिहार BJP के बड़े नेताओं में शुमार थे.
कौल ने कहा, “अनिल BJP के बड़े नेता थे. बचपन से ही बीजेपी के साथ जुड़े थे. वो जम्मू BJP के बड़े सात-आठ नेताओं में शामिल थे. अनिल किश्तवाड़ के ही रहने वाले थे. वो बीजेपी स्टेट मोर्चा अध्यक्ष भी रह चुके थे. साथ ही ऑल इंडिया युवा मोर्चा के सदस्य रहे थे. पिछली बार भी स्टेट सेक्रेटरी रहे थे और हाल ही में रविंदर रैना ने फिर से उन्हें स्टेट सेक्रेटरी बनाया था. हाल ही में वो उधमपुर और आरएसपुरा के भी प्रभारी रहे हैं.”
किश्तवाड़ में स्थिति तनावपूर्ण
कौल ने अनिल की हत्या को बुज़दिलाना हरक़त बताया और कहा कि हमें ऐसी घटनाओं की निंदा करनी चाहिए.
इस घटना के बाद प्रशासन ने किश्तवाड़ क़स्बे में शांति व्यवस्था बनाए रखने लिए कर्फ़्यू लगा दिया है. बताया जाता है कि पूरे किश्तवाड़ क़स्बे में हालात तनावपूर्ण हैं.
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने घटना की निंदा करते हुए हैरानी जताई है.
जम्मू-कश्मीर बीजेपी के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने इस हमले की निंदा करते हुए बताया कि जम्मू-कश्मीर में बीजेपी की बढ़ती शोहरत से कुछ लोग बौखला गए हैं. ठाकुर ने पुलिस से क़ातिलों को जल्द से जल्द पकड़ने की अपील की है.
क्या कहती है पुलिस
इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस, जम्मू ज़ोन एस.डी. सिंह जम्वाल ने बीबीसी को बताया कि अभी तक हत्या में शामिल लोगों की कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.
उन्होंने कहा, “अभी इस मामले में जांच चल रही है. अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है.”
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्‍दुल्ला ने इन हत्याओं पर शोक जताया है.
जम्मू-कश्मीर बीजेपी इकाई के जनरल सेक्रेटरी अशोक कौल ने कहा, “उमर अब्दुला इस घटना की निंदा कर रहे हैं, लेकिन निंदा करने से कुछ नहीं होगा. उन्हें उन लोगों की निंदा करनी चाहिए, जिन्होंने आज बड़गाम में पत्थर बरसाए.”
जम्मू क्षेत्र में बीते वर्षों के दौरान पहली बार इस तरह की घटना सामने आई है कि किसी नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई हो. हालांकि कश्मीर में ऐसे कई मामले देखने को मिलते रहते हैं.
बीते वर्षों में बीजेपी और दूसरी राजनीतिक पार्टियों के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं की कश्मीर में संदिग्ध चरमपंथियों ने हत्या की है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »