जम्मू-कश्मीर: आतंकियों का सहयोगी DSP देविंदर सिंह बर्खास्त

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों के साथ गिरफ्तार DSP देविंदर सिंह को राज्य पुलिस ने अपनी सेवाओं से बर्खास्त कर दिया है।
DSP देविंदर सिंह के खिलाफ दर्ज सारे मामलों की जांच अब एनआईए को सौंप दी गई है।
इसके अलावा अधिकारी इस बात का भी पता लगा रहे हैं कि देविंदर कितने दिनों से आतंकी संगठनों के संपर्क में था। मंगलवार को ही देविंदर को सेवाओं से निलंबित कर दिया गया था।
कुलगाम से गिरफ्तार हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के DSP देविंदर सिंह से पूछताछ में पता चला है कि वह लंबे समय से इन आतंकियों के संपर्क में था। साथ ही यह भी खुलासा हुआ कि वह 2018 में भी इन आतंकियों को लेकर जम्मू गया था। यही नहीं, वह आतंकियों को अपने घर में पनाह भी देता था। जम्मू कश्मीर पुलिस फिलहाल देविंदर और उसके साथ पकड़े गए आतंकी नवीद से पूछताछ कर रही है।
सूत्रों के अनुसार DSP देविंदर सिंह का इन आतंकियों के साथ लंबे समय से संपर्क था। सूत्रों ने बताया कि आतंकियों की दिल्ली, चंड़ीगढ़ और पंजाब में हमले की साजिश की थी।
13 जनवरी को हुई थी गिरफ्तारी
देविंदर को 13 जनवरी को कुलगाम जिले में श्रीनगर-जम्मू नेशनल हाइवे पर एक कार में गिरफ्तार किया गया था। वह हिज्बुल कमांडर सईद नवीद, एक दूसरे आतंकी रफी रैदर और हिज्बुल के एक भूमिगत कार्यकर्ता इरफान मीर को लेकर जम्मू जा रहा था।
पुलिस को मिला थी सुराग
अधिकारियों ने बताया कि DSP आतंकियों को घाटी से बाहर निकालने में मदद कर रहा था। बताया जा रहा है कि DSP की मदद से आतंकी दिल्ली आने वाले थे। उधर DSP के घर पर छापेमारी के दौरान 5 ग्रेनेड और 3 एके-47 बरामद हुई हैं। DSP को आतंकियों के साथ गिरफ्तार करने की मुहिम का दक्षिणी कश्मीर के डीआईजी अतुल गोयल ने नेतृत्व किया और कुलगाम के पास आतंकियों की कार को रुकवाया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *