जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने इस साल अब तक मारे 211 आतंकवादी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने इस साल आतंकवाद की कमर तोड़ कर रख दी है। पुराने साल के रेकॉर्ड को 11 महीनों में ही तोड़ दिया गया है। आंकड़ों के अनुसार इस साल 11 महीनों में 211 आतंकियों को मार गिराया गया है। इसमें हिजबुल के दो ऑपरेशनल कमांडरों के अलावा जैश चीफ तथा एजीएच चीफ भी शामिल है।
आंकड़ों के अनुसार पिछले साल यह गिनती 152 थी। इस हिसाब से इस साल सुरक्षाबल करीब 60 आतंकियों को मार गिराने में अभी तक आगे चल रहे हैं।
भले ही इस साल कोरोना ने शुरु से ही पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया था लेकिन इसके बावजूद कश्मीर में आतंकवाद विरोधी ऑपरेशनों में कोई कमी नहीं आई। सुरक्षाबलों ने कोरोना से लड़ने के साथ-साथ आतंकियों का सफाया करने में भी अहम काम किया है। आतंकियों के खिलाफ इस कदर काम किया गया कि पाकिस्तान की तरफ से सुरंग का इस्तेमाल करना शुरु कर दिया गया क्योंकि तारबंदी को पार करना आतंकियों के लिए मुश्किल हो रहा है। इसके अलावा हथियारों की कमी को पूरा करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल शुरु कर दिया गया।
इस साल अब तक 11 महीनों में सुरक्षाबलों ने 211 आतंकियों को मार गिराया है। इसमें 50 पाकिस्तानी तथा बाकी स्थानीय आतंकी शामिल हैं। इनमें हिजबुल के दो चीफ रियाय नायकू तथा डॉ. सैफउल्ला शामिल है। इसी तरह से जैश चीफ मोहम्मद कारी यासिर तथा एजीएच चीफ बुरहान कोका शामिल हैं। इसी तरह से लश्कर के कमांडरों को मार गिराया गया। इस साल सुरक्षाबलों ने 47 आतंकियों को जिंदा गिरफ्तार किया है।
आतंकवादियों के 150 मददगार गिरफ्तार
इसके अलावा आतंकवादियों के करीब 150 मददगारों को गिरफ्तार किया गया, जो कश्मीर में आतंकियों का पूरा नेटवर्क चलाने का काम करते थे। पिछले साल 152 आतंकियों को मार गिराया गया था। सिर्फ 45 को गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा इस घुसपैठ के मामलों में कमी आई है। इस साल पाकिस्तान की तरफ से करीब एक दर्जन बार घुसपैठ का प्रयास करवाया गया। 6 मामलों में आतंकियों को मार गिराया गया। चार मामलों में आतंकी वापस भाग गए हैं। इस साल जवानों का भी 50 से अधिक नुकसान हुआ है।
चार जिलों में सबसे ज्यादा ऑपरेशन
इस साल कश्मीर के चार जिलों में अधिक ऑपरेशन हुए हैं। इसमें कुलगाम, शोपियां, पुलवाम तथा अनतंनाग शामिल हैं। इस साल 90 सीधी मुठभेड़ हुई है। हिजबुल के बड़े एक दर्जन कमांडरों को मार गिराया गया है। कश्मीर में सक्रिय आईईडी एक्सपर्ट को भी इसी साल मार गिराया गया। कश्मीर के हर जिले में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशनों में सफलता मिल रही है। पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह का कहना है कि पुलिस बाकी एजेंसियों के साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ काम कर रही है। इस साल हमें काफी सफलता मिली है। आने वाले दिनों में और सफलता मिलेगी, जिसमें आतंकियों का कश्मीर से सफाया कर दिया जाएगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *