जलाधिकार फाउन्डेशन ने की आगरा में दो Barrage बनाने की मांग

आगरा। जलाधिकार फाउन्डेशन ने आगरा में दो Barrage बनाने का सुझाव देते हुए प्रदेश सरकार से आगरा की जल समस्याओं व समाधान के लिए दो बैराज बनाने की ओर ध्‍यान देने की मांग की है।

जलाधिकार फाउन्डेशन, पिछले तीन वर्ष से आगरा जल समस्या का सर्वेक्षण, समस्या व समाधान हेतु कार्यरत है । लगातार हर स्तर पर आगरा में दो बैराज बनाने की मांग करता रहा है (१) आगरा बैराज – सिकन्दरा के अपस्ट्रीम में, जो पीने के पानी की समस्या का निवारण करेगा, व (२) ताज बैराज- ताजमहल के डाउनस्ट्रीम में, जो रोजगार व पर्यटन के अवसर बढायेगा।

जलाधिकार की टीम राष्ट्रीय सचिव अवधेश कुमार उपाध्याय के नेत्रत्व में अपने साथी राजीव सक्सैना, डा अनुराग शर्मा, राजेश कुमार व इं तत्सत शर्मा के साथ लखनऊ सचिवालय में १३ मई को माननीय उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा  व माननीय सिंचाई मंत्री धर्मपाल से मिलकर जल समस्या समाधान की १० योजनाओं पर विस्त्रित चर्चा की थी।

उस दिन दोनों मंत्रियों ने आगरा की समस्या सुलझाने व बैराज बनाने का वादा किया था और सिंचाई मंत्री जी ने २८ जून को अपने आगरा दौरे पर घोषणा भी की थी। उसके उपरान्त सिंचाई विभाग के इंजीनियर इन चीफ  कुनाल कुलश्रेष्ठ के नेत्रत्व मे हाई लेविल टीम ने ०१ जुलाई को आगरा का दौरा किया था हमारी टीम उस वार्ता में शामिल रही।

उसी सन्दर्भ में दिनांक ०५ सितम्बर,१७ को श्री कुणाल कुलश्रेष्ठ, प्रमुख अभियन्ता (परियोजना) सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, उत्तर प्रदेश, लखनऊ ने अधिकारिक पत्र जारी कर अधीक्षण अभियन्ता, त्रतीय मण्डल, सिंचाई कार्य, आगरा को निर्देशित कर आगरा में आगरा (सिकन्दरा) बैराज व ताज बैराज परियोजना को पुनरीक्षित करने का पत्र प्रेषित किया है और इनमें स्प्रिकलर द्वारा सिंचाई सुविधा कमाण्ड का प्रयोजन भी सम्मिलित किया गया है इनको तैयार करने का कार्य आगरा में शुरु किया जा चुका है ।

जलाधिकार फाउन्डेशन के राष्ट्रीय सचिव अवधेश कुमार उपाध्याय ने बताया कि  हमें उम्मीद है आगरा में शीघ्र ही दो बैराज बनेंगे और आगरावासियों का पानी पर लगभग 350 करोङ रूपया प्रतिवर्ष बचेगा । और आगरा भारत के सर्वश्रेष्ठ शहरों में शामिल होगा ।

जलाधिकार फाउन्डेशन ओर से आज आयोजित की गई प्रेस वार्ता में जलाधिकार फाउन्डेशन के पूरन डाबर, चरनजीत थापर, राजीव सक्सैना, अनुराग शर्मा, इं तत्सत शर्मा, इं दिवाकर तिवारी,वीरेन्द्र भारद्वाज एडवोकेट, अजीत गर्ग एडवोकेट, श्रीमति एकता अग्रवाल, डा मीता कुलश्रेष्ठ, बिमल जैन, अनूप कुमार, नितिन अग्रवाल, शशिकान्त उपाध्याय, सीए शुशान्त सिंघल आदि उपस्थित रहे ।