वर्ल्ड कप 2019 में रायडू को शामिल न करना नाइंसाफी थी: हरभजन

नई दिल्‍ली। हरभजन सिंह ने कहा है उनका मानना है कि बीते साल वर्ल्ड कप टीम में अंबाती रायडू को शामिल न करना उनके साथ नाइंसाफी थी।
हरभजन ने कहा कि चेन्नै सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच हुए मुकाबले में अंबाती रायडू ने शानदार पारी खेली थी।
दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें एडिशन के पहले मैच में शानदार प्रदर्शन करने वाले अंबाती रायडू की खूब तारीफ की है। उन्होंने कहा कि रायडू पिछले साल वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम के बल्लेबाजी क्रम में नंबर चार की पोजीशन के हकदार थे। हालांकि चयनकर्ताओं ने रायडू के स्थान पर विजय शंकर को टीम में शामिल किया था।
IPL 2020 का पहला मैच चेन्नै सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया था। रायडू ने 48 गेंद पर 71 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को 163 का लक्ष्य हासिल करने में मदद की थी।
हरभजन ने कहा, ‘रायडू और डु प्लेसिस के बीच की साझेदारी ने चेन्नै सुपर किंग्स को जितवाने में अहम भूमिका निभाई। हमने एक अच्छी शुरुआत की है और उम्मीद की जानी चाहिए कि यह सफर यूं ही जारी रहेगा।’
चेन्नै के स्पिनर ने स्पोर्टस तक के साथ बातचीत में कहा, ‘मुझे याद है कि जब हम दो साल पहले आईपीएल जीते थे तो हमने पहले मैच में मुंबई इंडियंस को ही हराया था। तो यह एक अच्छा शगुन है और मैं उम्मीद करता हूं कि इस बार भी हम विजेता बनेंगे।’
रायडू के प्रदर्शन पर सवाल पूछने पर हरभजन ने कहा कि उन्हें लगता है कि वर्ल्ड कप 2019 में रायडू को न चुनना उनके साथ ‘अन्याय’ था।
हरभजन ने कहा, ‘रायडू की जितनी तारीफ की जाए कम है। मुझे लगता है कि जब वर्ल्ड कप के लिए टीम का चयन हुआ तो रायडू के साथ नाइंसाफी हुई। बेशक, उन्हें टीम में होना चाहिए था लेकिन उन्होंने एक बार फिर दिखाया कि उनमें कितनी क्षमता है। उम्र एक ओर है और प्रतिभा दूसरी ओर। और हमें टैलंट को ही देखने की जरूरत है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *