तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को जीत दिलाना एक साजिश थी: अल्वी

नई दिल्‍ली। लोकसभा चुनावों को लेकर रविवार को आए एग्जिट पोल के आंकलन के बाद से ही राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है. एनडीए को लगभग हर एग्जिट पोल के नतीजों में मिल रही बढ़त को देखते हुए अब कांग्रेस ने पलटवार शुरू कर दिया है.
आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी ने कहा कि एग्जिट पोल के नतीजे यदि सही रहते हैं तो इसका सीधा अर्थ है कि ईवीएम में धांधली की गई है. सभी एग्जिट पोल लगभग एक ही नतीजे दे रहे हैं, ऐसे में उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता.
भरोसा दिलाया कि आयोग में सरकार का दखल नहीं
आजतक की एक रिपोर्ट के अनुसार राशिद अल्वी ने कहा कि यदि एग्जिट पोल सटीक रहता है तो तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जहां कांग्रेस ने जीत दर्ज की वह एक साजिश थी.
इन राज्यों में हमारी जीत के साथ ही यह भरोसा कायम करवाया गया कि ईवीएम सही है और चुनाव आयोग में सरकार का कोई दखल नहीं है.
एग्जिट पोल करने वाली कंपनियों पर भी हमला
राशिद ने एग्जिट पोल करने वाली कंपनियों पर भी इस दौरान हमला किया. उन्होंने कहा कि कुछ समय से इन कंपनियों पर कई स्टिंग ऑपरेशन किए गए. इस दौरान यह पता चला कि यह कंपनियां एकतरफा काम कर रही हैं और यह निष्पक्ष नहीं हैं.
गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव का आखिरी चरण खत्म होने के बाद रविवार शाम को आए एग्जिट पोल में एनडीए को 300 से ज्यादा सीटों का आंकलन किया गया था.
बयानबाजी का माहौल
एग्जिट पोल के रविवार शाम आने के बाद से ही राजनीतिक गलियारों में बयानबाजी के दौर चल रहे हें. इस बयानबाजी में एनडीए और यूपीए के नेता एग्जिट पोल के आंकलन को सही और गलत साबित करने पर तुले हैं. ऐसे में एनडीए के ही सहयोगी दल एआईएडीएमके पार्टी से तमिलनाडु के सीएम के पलानीस्वामी ने एग्जिट पोल के आंकलन को गंभीरता से नहीं लेने की हिदायत दी. उन्‍होंने कहा कि यह कुछ ऐसा ही है जैसे हम अपनी राय किसी पर थोपें.
उपराष्ट्रपति ने कहा, यह सटीक नहीं
उधर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि एग्जिट पोल एग्जेक्ट पोल नहीं हैं. उन्होंने कहा कि हमें यह समझाना चाहिए. 1999 में भी अधिकांश एग्जिट पोल के नतीजे गलत साबित हुए थे. हालांकि यह बात नायडू ने एक अनौपचारिक बैठक के दौरान कही.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »