IT Return Portal की दिक्‍कतें बरकरार, इंफोसिस का दिया गया समय बीता

नई दिल्‍ली। IT return दाखिल करने के लिए केंद्रीय वित्त मंत्रालय द्वारा बनवाए गए पोर्टल पर अभी भी दिक्कतें दूर नहीं हुई हैं। सरकार ने आयकर पोर्टल की दिक्क्तों को दूर करने के लिए इंफोसिस को जो समयसीमा दी थी, वह बुधवार यानी कल ही समाप्त हो गई है। अलग-अलग कार्यों के लिए आयकर पोर्टल का उपयोग करने वाले टैक्स एक्सपर्ट का कहना है कि पोर्टल पर अभी भी कई तरह की गड़बड़ियों का सामना करना पड़ रहा है।
तीन महीने हो गए पोर्टल शुरू हुए
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए नया पोर्टल विकसित किया है। इसे शुरू किए तीन महीने बीत चुके हैं। इसके बावजूद उपयोगकर्ताओं को दाखिल किए गए रिटर्न में गलती को ठीक करना भारी पड़ रहा है। यही नहीं, करदाताओं को अपने रिफंड की स्थिति का पता लगाने में भी काफी मशक्कत करनी पड़ती है। यदि रिफंड नहीं आया है तो इसे फिर से जारी करने का अनुरोध करने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।
पिछले आईटीआर को देखने में भी परेशानी
इनकम टैक्स विभाग की नई वेबसाइट पर दिक्कतों का अंत यहीं नहीं होता। यदि आपको निर्धारण वर्ष 2013-14 से पहले दाखिल की गई आईटीआर को देखना है, तो उसमें भी परेशानी आ रही हैं। काफी लोग तो हताश होकर वेबसाइट बंद कर देते हैं।
जून में शुरू किया गया था पोर्टल
नए ई-फाइलिंग पोर्टल को सात जून 2021 को शुरू किया गया था। पोर्टल के शुरू होने के दिन से ही करदाताओं और पेशेवरों ने इसके कामकाज में गड़बड़ियों और कठिनाइयों की रिपोर्ट की थी। इसे विकसित करने के लिए जानी-मानी कंपनी इंफोसिस को वर्ष 2019 में ही ठेका दिया गया था।
कंपनी के सीईओ को किया गया था तलब
केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने इससे पहले बीते 23 अगस्त को आयकर पोर्टल पर जारी तकनीकी खामियों को लेकर इंफोसिस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) सलिल पारेख को तलब किया था। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पारेख के साथ बैठक में पोर्टल पर लगातार गड़बड़ियों पर ‘गहरी निराशा’ व्यक्त करते हुए सभी मुद्दों को हल करने के लिए उन्हें 15 सितंबर तक का समय दिया था, जो कल पूरा हो गया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *