शहला राशिद जैसे लोगों की सोच को कुचलना जरूरी: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री

नई दिल्‍ली। जेएनयू की कश्मीरी छात्रा शहला राशिद अपने भड़काऊ ट्वीट को लेकर केंद्र सरकार के निशाने पर भी आ गई हैं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने बेहद सख्त अंदाज में कहा कि ऐसे लोगों की सोच को कुचलने की जरूरत है जो देश की बर्बादी और इसके टुकड़े करने की सोच रखते हैं।
रेड्डी ने एक निजी टीवी चैनल के संवाददाता के सवाल पर कहा, ‘जो भारत की बर्बादी की बात करते हैं, भारत तोड़ने की बात करते हैं, अफजल गुरु के बारे में बात करते हैं, ऐसी जो भी शक्तियां हैं, ऐसी सोच के लोग हैं, उनको कुचलना चाहिए। ऐसे लोगों के लिए भारत में कोई स्थान नहीं है।’ शहला के खिलाफ शिकायत पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल जांच कर रही है।
‘यह बहुत गलत है, गैर-कानूनी है और राष्ट्रविरोधी भी है। सिक्योरिटी फोर्सेज देश के लिए, देश की सीमा की रक्षा करते हुए जान देते हैं। वैसे सैनिक के ऊपर ऐसा बोलना, सोशल मीडिया में ऐसे कमेंट्स करना बिल्कुल गैर-कानूनी है।’
गृह राज्य मंत्री ने कश्मीर और पूरे देश का माहौल खराब करने में जुटे तत्वों पर पूरे समाज को नजर रखने की जरूरत बताई। उन्होंने उन राजनीतिक दलों से भी सवाल किया कि आखिर वे ऐसे ‘देशविरोधी लोगों’ का समर्थन क्यों करते हैं?
उन्होंने कहा, ‘इसे जनता को देखना चाहिए और जो पॉलिटिकल पार्टीज संसद में और संसद के बाहर उनका समर्थन करती हैं, उन्हें भी सोचना चाहिए। ऐसे लोगों को क्यों समर्थन कर रहे हैं आप लोग?’
उन्होंने कहा कि पैरा मिलिट्री हो, मिलिट्री हो, इन पर पाकिस्तान बात करे या फिर कोई पॉलिटिकल पार्टी, हम नहीं सुन सकते। इस पर पूरे समाज को सोचना चाहिए।
गौरतलब है कि शहला राशिद ने रविवार को लगातार 10 ट्वीट्स कर कश्मीर में बदतर हालात का दावा किया। उन्होंने यहां तक आरोप लगाए कि आर्मी कश्मीरियों पर अत्याचार कर रही है। उनके इस दावे को फर्जी और महौल खराब करने की नियत से किया गया दुष्प्रचार बताकर सुप्रीम कोर्ट में शिकायत की गई। सुप्रीम कोर्ट के ही एक वकील ने शिकायत में शहला की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की ताकि कश्मीर में शांति बरकरार रखी जा सके।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »