ISRO चीफ ने नए साल के लक्ष्य और योजनाएं पेश कीं

बेंगलुरु। ISRO चीफ के. सिवन ने नए साल के मौके पर देशवासियों के सामने इस साल के लक्ष्य और योजनाएं पेश कीं। साल 2020 में गगनयान और चंद्रयान-3 मिशन लॉन्च करेगा। इसके साथ ही ISRO चीफ ने कहा कि अंतरिक्ष विज्ञान के जरिए हमारी कोशिश देशवासियों के जीवन को और बेहतर बनाने की है। ISRO प्रमुख ने बताया कि दोनों महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स के लिए काफी तैयारी बीते हुए साल में ही कर ली गई है।
मिशन 2020 में गगनयान और चंद्रयान-3 खास
ISRO चीफ ने कहा, ‘2020 में कॉस्ट इफेक्टिव चंद्रयान-3 लॉन्च करेंगे। गगनयान के अंतरिक्षयात्रियों को जनवरी 2020 के तीसरे सप्ताह से प्रशिक्षित किया जाएगा। गगनयान के मिशन के लिए 4 अंतरिक्षयात्रियों की पहचान की गई है। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर की परामर्श समिति का गठन किया गया है। 2019 में गगनयान प्रोजेक्ट में हमने काफी तरक्की की है।’
चांद पर ISRO की नजर, चंद्रयान-3 के लिए तैयारी
ISRO चीफ ने कहा कि इस साल चंद्रयान-3 प्रोजेक्ट भी लॉन्च होगा। के. सिवन ने कहा, ‘चंद्रयान-3 मिशन के लिए सरकार की मंजूरी मिल गई है। चंद्रयान-3 काफी हद तक चंद्रयान-2 से मिलता जुलता होगा। प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो चुका है। इसका कॉन्फिगरेशन चंद्रयान-2 की तरह ही होगा। इसमें भी लैंडर और रोवर होगा।’ बता दें कि ISRO के चंद्रयान-2 मिशन की भारत ही नहीं दुनियाभर में काफी चर्चा हुई थी।
तूतीकोरिन में होगा देश का दूसरा स्पेस पोर्ट
देश के दूसरे स्पेस पोर्ट के बारे में बताते हुए सिवन ने कहा कि इसके लिए भूमि अधिग्रहण शुरू कर दिया गया है। दूसरा पोर्ट तमिलनाडु के तूतीकोरिन में होगा। बता दें कि आगामी एक दशक में ISRO के पास मंगल ग्रह से लेकर शनि ग्रह तक के लिए कई महत्‍वाकांक्षी प्रोजेक्‍ट हैं जिन पर तेजी से काम चल रहा है। ISRO के गगनयान मिशन के लिए रूस मदद कर रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *