एक साथ चार-चार दुश्मनों से उलझा हुआ है इजरायल

तेल अवीव। इजरायल कोरोना वायरस के कहर से उबरने के बाद अब दूसरी मुश्किल में फंसता जा रहा है। दुनिया का एकमात्र यहूदी राष्ट्र इन दिनों एक साथ चार-चार दुश्मनों से उलझा हुआ है। वहीं, इजरायली डिफेंस फोर्स ने भी ऐलान किया है कि वे अपने देश के दुश्मनों को कड़ा सबक सिखाने से पीछे नहीं हटेंगे। यही कारण है कि इन दिनों यरुशलम में इजरायली फोर्स और प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव भी बढ़ गया है।
कौन हैं इजरायल के ये चार दुश्मन
इन दिनों इजरायल का सबसे बड़ा दुश्मन गाजा पट्टी में सक्रिय हमास के आतंकी हैं। जिनके रॉकेट हमले ने इजरायल को परेशान किया हुआ है। दूसरा दुश्मन लेबनान का आतंकी संगठन हिजबुल्लाह है। यह संगठन भी इजरायल पर ड्रोन हमले कर रहा है। तीसरा दुश्मन यरुशलम में सक्रिय फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारी हैं, जो पिछले कई दिनों से कोहराम मचाए हुए हैं। चौथा दुश्मन सीरिया है, जिसने कुछ दिनों पहले एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल से इजरायल के परमाणु रिएक्टर को निशाना बनाने की कोशिश की थी।
लगातार रॉकेट, ड्रोन दाग रहे हमास और हिजबुल्लाह
यरुशलम में बढ़ते तनाव के बीच गाजा पट्टी से हमास और लेबनान से हिजबुल्लाह के आतंकी लगातार इजरायल पर हमले कर रहे हैं। इनके फायर किए गए रॉकेट और ड्रोन को मार गिराने के लिए इजरायल को काफी परेशान होना पड़ रहा है। हालांकि, इजरायल ने अपनी सुरक्षा के लिए देश के कोने-कोने में कई एंटी मिसाइल सिस्टम एक्टिवेट किए हुए हैं, फिर भी कई बार हमास और हिजबुल्लाह के रॉकेट और ड्रोन इजरायली जमीन पर गिर रहे हैं।
जंग का मैदान बना यरुशलम
यरुशलम में हाल के दिनों में झड़पों में बढ़ोतरी हुई है जो इजरायल-फिलिस्तीन में लंबे समय से टकराव का मुख्य केंद्र रहा है और यहीं पर यहूदियों, ईसाइयों और मुस्लिमों के पवित्र स्थल स्थित हैं। कुछ दिनों पहले कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर इजरायल ने यरुशलम के कई इलाकों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया था, जिसके विरोध में फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर गए। इस दौरान भड़की हिंसा में दोनों ही पक्षों के कई लोगों के घायल होने की खबर है। यरुशलम के निवासियों को और अशांति की आशंका हैं जबकि पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है।
हमास बोला, हमारे सब्र का इम्तिहान न लो
यरुशलम में हुई घटनाओं ने गाजा को भड़का दिया। हमास की सशस्त्र इकाई ने इजरायल को चेताया कि वह उसके सब्र का इम्तिहान न ले और फिलिस्तीनी एनक्लेव से शुक्रवार देर रात दक्षिणी इजरायल पर रॉकेट दागना शुरू कर दिए और शनिवार सुबह तक यह सिलसिला जारी रहा। इस दौरान हमास के आतंकियों ने कम से कम 36 रॉकेट दागे।
सीरिया से भी मिसाइल हमले के बाद बढ़ा तनाव
इजरायली परमाणु रिएक्टर पर सीरिया के मिसाइल हमले के बाद से तनाव बरकरार है। इजरायली सेना सीरिया में सक्रिय ईरानी मिलिशिया के ठिकानों पर लगातार मिसाइलें दाग रही हैं। जिसके जवाब में सीरियाई सेना ने इजरायल को चेतावनी भी दी है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *