नेपाल में पकड़ा गया ISI का गुर्गा अल्‍ताफ हुसैन अंसारी

काठमांडू। नेपाल पुलिस ने पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी ISI के एक बड़े गुर्गे अल्‍ताफ हुसैन अंसारी को 15 क‍िलो सोने की तस्‍करी के मामले में अरेस्‍ट कर लिया है। तस्‍करी की यह घटना बारा जिले में हुई थी। परसा के डीएसपी मंजीत कुंवर ने बताया कि उन्‍होंने खुफिया जानकारी मिलने के बाद अंसारी को अरेस्‍ट किया है। अंसारी को पूछताछ के लिए काठमांडू भेज दिया गया है। एक भारतीय को भी इस संबंध में अरेस्‍ट किया गया है। सूत्रों के मुताबिक अल्‍ताफ अंसारी नेपाल में ISI के लिए नकली भारतीय नोटों की तस्‍करी का गैंग चलाता है।
काठमांडू रेंज के वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक श्‍याम लाल ज्ञवली ने बताया कि दो भारतीय नागरिक नीलेश शकिया और संजय पटेल 15 किलो नकली सोने की तस्‍करी के मामले के मास्‍टरमाइंड हैं। अंसारी मुख्‍य डीलर था और वह नेपाल में उन्‍हें मदद मुहैया कराता था। शकिया को एक दिन पहले ही अरेस्‍ट किया गया था और अंसारी फरार चल रहा था। अब अंसारी भी अरेस्‍ट कर लिया गया है। उन्‍होंने बताया कि पटेल को भी पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।
ज्ञवली ने कहा कि ये तस्‍कर चांदी के ऊपर सोने की परत चढ़ाकर भारत भेजने की योजना बना रहे थे। ये सोना गुजरात भी जाना था। वहां ये लोग इसे असली सोना बताकर बेचने वाले थे। शुरुआत में यह मामला उस समय विवादों में आ गया था जब ये तस्‍कर सोने से भरा बैग फेंककर फरार हो गए थे। इसके बाद पुलिस ने एक कमेटी बनाकर पूरे मामले और पुलिसकर्मियों के भ्रष्‍टाचार की जांच की।
पुलिस ने नकली सोने का बैग लेकर तस्‍करों को जाने दिया
इस कमेटी ने पाया कि स‍िपाही बहादुर सिंह कादयात और सिपाही प्रसन्‍न श्रेष्‍ठ ने अपने बॉस डीएसपी रंजन कुमार दहल को घटना के स्‍थान की गलत सूचना दी। उन्‍होंने तस्‍करी के बारे में पूरी सूचना भी नहीं दी। जांच में पता चला कि इन पुलिसकर्मियों ने नकली सोने का बैग लेकर तस्‍करों को जाने दिया था। इस मामले से जुड़े कुल आठ लोग अब पुलिस की हिरासत में हैं। ज्ञवली ने बताया कि अंसारी के ऊपर भारत में आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने का संदेह है।
अंसारी वर्ष 2010 में भारत के नकली नोटों की तस्‍करी के मामले में 3 साल के लिए जेल जा चुका है। सूत्रों के मुताबिक आईएसआई के नेपाल में नकली नोटों और सोने की तस्‍करी का अंसारी सरगना है। इस नेटवर्क का इस्‍तेमाल आईएसआई बांग्‍लादेश से काठमांडू नकली नोट लाने के लिए करती है। नेपाली नागरिक अंसारी भारत से सटे नेपाल के तराई इलाके में अपना नेटवर्क चलाता है। इस काम में उसे नेपाल में पाकिस्‍तानी दूतावास में तैनात आईएसआई के एजेंट पूरी मदद करते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *