IPL कल से, पहला मैच मुंबई इंडियंस और चेन्नै सुपर किंग्स के बीच

अबुधाबी। घातक कोरोना वायरस महामारी के खौफ के बीच दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों के चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए इंडियन प्रीमियर लीग IPL शनिवार से शुरू होगी। इसमें एक बार फिर दिग्मज हेंद्र सिंह धोनी के शांत रवैये, विराट कोहली की आक्रामकता और रोहित शर्मा की कप्तानी पर सभी की नजरें होंगी। गत चैंपियन रोहित की मुंबई इंडियंस का सामना पहले मैच में धोनी की चेन्नै सुपर किंग्स से होगा।
भारत में लगातार बढ़ते कोरोना महामारी के मामलों के कारण टूर्नामेंट यूएई में खेला जा रहा है। ऐसा पहली बार होगा कि आईपीएल मैच के दौरान मैदान में दर्शक नहीं होंगे। कठिन हालात में सिनेमा और क्रिकेट के लिए तरस रहे दर्शकों के लिए भी यह आईपीएल खास होगा और खिलाड़ियों के लिए भी।
ऐसे में जब सोशल डिस्टैंसिंग और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल दिनचर्या का हिस्सा बन चुके हैं। अगले 53 दिन धोनी की चेन्नै सुपर किंग्स, कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, रोहित की मुंबई इंडियंस, केएल राहुल की किंग्स इलेवन पंजाब और श्रेयस अय्यर की दिल्ली कैपिटल्स समेत आईपीएल की 8 टीमों के नाम होंगे।
आईपीएल पहले भी विदेश में हुआ है लेकिन इस बार करोड़ों डॉलर का यह क्रिकेटिया तमाशा पहली बार बायो-सिक्योर माहौल में होगा। इसमें क्रिस गेल और डेविड वॉर्नर के गगनभेदी छक्कों पर तालियां पीटने वाले नहीं होंगे और ना ही सुपर ओवर में कोई शोर सुनाई देगा। इसके बावजूद कोई शिकायत नहीं क्योंकि कम से कम खेल देखने को तो मिलेगा।
कागजों पर आंकलन करें तो मुंबई की टीम सबसे मजबूत नजर आ रही है जिसमें रोहित के अलावा हार्दिक और क्रुणाल पंड्या , कायरन पोलार्ड और ‘डेथ ओवरों के शहंशाह’ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह हैं।
चेन्नै टीम में अनुभवी क्रिकेटर
चेन्नै टीम को भले ही ‘बूढों की फौज’ कहें लेकिन इस टीम ने साबित किया है कि सफलता और प्रतिभा उम्र के मोहताज नहीं होते। दिग्गज शेन वॉटसन, ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस और ऑलराउंडर जडेजा ने अपना सौ प्रतिशत इस टीम को दिया है और इस बार भी देंगे।
चेन्नै के कुछ खिलाड़ी उपलब्ध नहीं
पहले मैच में मुंबई का पलड़ा भारी लग रहा है। रोहित, क्विंटन डि कॉक, सूर्य कुमार यादव, ईशान किशन, पंड्या बंधु, कायरन पोलार्ड बल्लेबाजी को मजबूत देते हैं। ट्रेंट बोल्ट और नाथन कोल्टर नाइल भी टीम में हैं। चेन्नै टीम में इतने सालों में ज्यादा बदलाव नहीं आया है। धोनी के सबसे विश्वस्त सिपहसालार सुरेश रैना इस बार नहीं है। उनकी जगह ऋतुराज गायकवाड़ भी उपलब्ध नहीं है जो कम से कम पांच बार कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं लेकिन चेन्नै के पास वॉटसन, अंबाती रायुडू, केदार जाधव, जडेजा और ब्रावो जैसे मैच विनर हैं। मिशेल सैंटनर और लुंगी गिडी भी चयन के लिए उपलब्ध हैं।
ऐसा है चेन्नै का रेकॉर्ड
चेन्नै सुपर किंग्स इंडियन प्रीमियर लीग की सबसे अनुभवी टीमों में शामिल है। इस टीम के खिलाड़ियों ने कुल मिलाकर 3840 टी20 मैच खेले हैं। इस अनुभव से उन्हें बहुत फायदा होगा। हालांकि इनमें से कई खिलाड़ियों ने काफी समय से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है। सात खिलाड़ियों ने तो इस साल यानी 2020 में कोई प्रतिस्पर्धी मुकाबला नहीं खेला है। यूएई उनके लिए अच्छा रहा है। साल 2014 में जब आईपीएल का पहला हिस्सा यूएई में खेला गया था तब चेन्नै ने पांच में से चार मैच जीते थे।
यूएई में मुंबई टीम करना चाहेगी कमाल
मुंबई इंडियंस के लिए यूएई हालांकि अच्छा नहीं रहा है। साल 2014 में जब आईपीएल के शुरुआती चरण के मुकाबले वहां खेले गए थे तो मुंबई इंडियंस ने लगातार पांच मुकाबले हारे थे। हालांकि टीम अकसर धीमी शुरुआत करने के लिए जानी जाती है। इस टीम का मिडिल ऑर्डर दमदार है। उनके पास सूर्यकुमार यादव (स्ट्राइक रेट 131.96), कायरन पोलार्ड (स्ट्राइक रेट 146.77), क्रुणाल पंड्या (154.78) और हार्दिक पंड्या (146.06) जैसे बल्लेबाज हैं।
फिरकी गेंदबाजों के लिए मुफीद है यूएई की पिच
चेन्नै टीम के पास इसके बाद क्रुणाल पंड्या, राहुल चाहर और जयंत यादव जैसे स्पिनर भी हैं जो सामने वाली टीम को बड़ा स्कोर बनाने से रोकते हैं। मिडिल ऑर्डर में बीते साल उनकी इकॉनमी रेट दूसरे नंबर पर थी। यूएई की पिचें स्पिनर्स के लिए बहुत मददगार हैं। दुबई और अबू धाबी में स्पिनर्स की इकॉनमी रेट 6.98 और 6.66 है और शारजाह में यह 7.22 है। इससे पता चलता है कि फिरकी गेंदबाजों के लिए यूएई बहुत मुफीद है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *