इंटरनेशनल रिसर्च: ब्लड ग्रुप भी हो सकता है Heart अटैक की वजह

बदलते लाइफस्टाइल और खान-पान की गलत आदतों की वजह से आज लगभग सभी लोग किसी ने किसी बीमारी से घिरे हुए हैं जिनमें Heart संबंधी बीमारियां सबसे ज्यादा हो रही हैं। यह महिलाओं और पुरुषों दोनों में बराबर देखने में आ रहा है। इस समय Heart प्रॉब्लम्स में कोरोनरी आर्टरी डिजीज, दिल की मांसपेशियों का असामान्य तौर पर बढ़ना, Heart फेल होना और अनियमित हार्ट बीट जैसी समस्याएं कॉमन हैं। लेकिन हमारी लापरवाही के अलावा हार्ट अटैक के कई और कारण भी हो सकते हैं और इनमें से एक हमारा ब्लड ग्रुप भी शामिल है।
हार्ट अटैक का कारण ब्लड ग्रुप भी
जी हां, एक इंटरनेशनल रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि हार्ट अटैक का एक कारण हमारा ब्लड ग्रुप भी होता है। ब्लड ग्रुप से हार्ट अटैक के खतरे का पता चल सकता है। साथ ही इस संभावना का भी पता चलता है कि किस ब्लड ग्रुप के लोगों को हार्ट अटैक का ज्यादा खतरा है।
इन 3 ग्रुप वालों को ज्यादा खतरा
ब्लड ग्रुप ए, बी और एबी… ये तीन ब्लड ग्रुप ऐसे हैं जिनमें दिल की बीमारी यानी हार्ट डिजीज होने का खतरा सबसे अधिक होता है।
शोध में हुआ खुलासा
इंटरनेशल शोध में जब सभी ब्लड ग्रुप को ध्यान में रखते हुए और साथ ही कुछ गिनती के हार्ट अटैक के मरीजों को मिलाया गया तब यह पाया गया कि सबसे अधिक हार्ट अटैक के मामले उन्हीं लोगों में पाए गए जिनका ब्लड ग्रुप ए, बी या फिर एबी था।
O ब्लड ग्रुप वाले सबसे सेफ
ओ ब्लड ग्रुप को सबसे अच्छा माना जाता है। इस ब्लड ग्रुप के लोगों को हार्ट से जुड़ी बीमारी होने का खतरा सबसे कम रहता है।
ए, बी, एबी को अटैक का खतरा 9% अधिक
ओ ब्लड ग्रुप वाले लोगों की तुलना में ए, बी और एबी ब्लड ग्रुप वाले लोगों में दिल का दौरा पड़ने की आशंका 9 फीसदी ज्यादा रहती है। ए ब्लड ग्रुप वाले लोगों को ज्यादा कलेस्ट्रॉल के लिए जाना जाता है, जो कि दिल के दौरे का प्रमुख जोखिम कारक है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »