खुफिया Input के बाद अमित शाह की सुरक्षा कड़ी की गई

खुफिया Input में बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह की जान को खतरा होने की आशंका जताई

नई दिल्‍ली। अमित शाह पर जानलेवा हमले की खुफिया Input के बाद गृह मंत्रालय ने राज्‍यों को निर्देश दिये हैं कि शाह की सुरक्षा कड़ी की जाए। गृह मंत्रालय ने सभी राज्‍यों को पत्र लिखकर ये निर्देश दिये हैं।
खुफिया एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट में बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह की जान को खतरा होने की आशंका जताई है। इसके बाद सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्‍यों को पत्र लिखकर अमित शाह की सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। गृह मंत्रालय ने अपनी चिट्ठी में कहा है कि शाह की सुरक्षा को कड़ा किया जाए।

पत्र में कहा गया है कि बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के मूवमेंट को देखते हुए उनकी सुरक्षा कड़ी की जाए। इंटेलीजेंस एजेंसी के थ्रेट असेसमेंट के आधार पर गृह मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। बता दें कि अमित शाह केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जेड प्‍लस सुरक्षा घेरे में रहते हैं।

गृह मंत्रालय के सभी राज्‍यों को दिए इस निर्देश के बाद माना जा रहा है कि शाह को अब जिस भी स्‍थान का दौरा करना होगा, वहां एडवांस सिक्‍योरिटी लिएजनिंग (एसएएल) की टीम सबसे पहले मुआयना करेगी। यह टीम वहां पर सुरक्षा दृष्टि से जांच करेगी। इसके बाद स्‍थानीय प्रशासन और पुलिस को सुरक्षा से जुड़े सुझाव देगी और इनपर पालन करने को कहेगी।

IB के अलर्ट के बाद अमित शाह की सुरक्षा बढ़ाई गई, अब जेड++ घेरे में रहेंगे

2019 के चुनाव से ठीक पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर खतरा बढ़ गया है। सुरक्षा एजेंसियों ने हाल ही में अमित शाह की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की थी। सूत्रों के मुताबिक आईबी Input ने शाह पर खतरे का अंदेशा जताया था। इसके बाद गृह मंत्रालय ने अमित शाह की सुरक्षा बढ़ाने का निर्णय लिया है।

शाह को अभी सीआरपीएफ कवर के साथ जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है। गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक अब शाह की सुरक्षा जेड प्लस से बढ़ाकर जेड प्लस प्लस कर दी गई है। गृह मंत्रालय ने इस बाबत सभी राज्यों को एक चिट्ठी लिखी है। इसमें शाह की सुरक्षा बढ़ाने को कहा गया है।

2019 के चुनाव से ठीक पहले अमित शाह पूरे देश में दौरा कर रहे हैं। इसी साल मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में चुनाव होने हैं। इसके कुछ ही महीने बाद आम चुनाव होंगे। ऐसे में अमित शाह अभी से चुनावी तैयारी में जुट गए हैं. वे लगातार दौरे कर रहे हैं। 2019 में एक बार फिर से देश में कमल खिलाने का उन्होंने दावा किया है। अब इसी बीच आईबी के इनपुट के बाद गृह मंत्रालय ने उनकी सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया है।

इससे पहले 2014 में मोदी सरकार के आने के फौरन बाद अमित शाह पर खतरे की आशंका के चलते उन्हें जेड प्लस की सुरक्षा प्रदान की गई थी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »