उड़ान भरने के बाद समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था इंडोनेशिया बोइंग 737

जकार्ता। इंडोनेशियाई अधिकारियों का कहना है कि उन्हें उस लोकेशन का पता चल गया है, जहां बोइंग 737 यात्री विमान जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.
शनिवार को स्रिविजया एयर जेट ने 62 यात्रियों के साथ राजधानी जकार्ता से पश्चिम कालीमंतन प्रांत के पोंतिअनक के लिए उड़ान भरी, लेकिन चार मिनट के अंदर ही रेडार से संपर्ट टूट गया.
विमान को ढूंढने के लिए 10 से अधिक जहाजों को नौसेना के गोताखोरों के साथ साइट पर तैनात किया गया था.
जाँचकर्ता उन चीज़ों का विश्लेषण कर रहे हैं जिन्हें वो विमान का मलबा मान रहे हैं. इन चीज़ों में एक पहिया भी है जो प्लेन का हो सकता है. जकार्ता पुलिस के प्रवक्ता यूसरी यूनुस ने कहा कि सर्च और रेस्कयू एजेंसी से दो बैग भी मिले हैं.
उन्होंने बताया, “एक बैग में यात्रियों का सामान है और एक बैग में शरीर के अंग. हम इनकी पहचान कर रहे हैं.”
नेशनल सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के प्रमुख एयर मार्शल बैगस पुरुहितो ने बताया कि उन्हें दो जगहों से सिग्नल भी मिला है, जो ब्लैक बॉक्स हो सकता है.”
खोज और बचाव प्रयासों को रात के लिए निलंबित कर दिया गया था लेकिन रविवार को सुबह फिर से शुरू किया गया.
ये विमान बोइंग का 737 मैक्स मॉडल नहीं है जिसे दो घातक दुर्घटनाओं के बाद मार्च 2019 से पिछले दिसंबर तक बंद कर दिया गया था.
विमान के साथ क्या हुआ?
स्रिविजया हवाई यात्री विमान शनिवार को ​​स्थानीय समय के अनुसार दोपहर दो बजकर 36 मिनट पर जकार्ता हवाई अड्डे से रवाना हुआ.
परिवहन मंत्रालय के अनुसार कुछ मिनटों बाद दो बजकर 40 मिनट पर विमान के साथ आख़िरी संपर्क दर्ज किया गया था.
बोर्नियो द्वीप के पश्चिम में स्थित पोंतिअनक के लिए सामान्य उड़ान 90 मिनट की है.
नेशनल सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के प्रमुख एयर मार्शल बैगस पुरुहितो के अनुसार विमान ने कोई संकट संकेत नहीं भेजा.
एक फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइट के अनुसार माना जा रहा है कि विमान एक मिनट से भी कम समय में 10 हज़ार फीट नीचे गिर गया.
प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि उन्होंने कम से कम एक विस्फोट देखा और सुना था.
एक मछुआरे सोलिहिन ने बीबीसी इंडोनेशियाई सेवा को बताया कि उसने एक दुर्घटना देखी और उसके कप्तान ने वापस किनारे जाने का फ़ैसला किया.
उन्होंने बताया, “विमान समुद्र में बिजली की तरह गिर गया और पानी में विस्फ़ोट हुआ. वो हमारे बहुत क़रीब हुआ, एक प्लाईवुड जैसी चीज़ लगभग मेरे जहाज़ पर लगी.”
पास के एक द्वीप के कई निवासियों ने बीबीसी को बताया कि उन्हें ऐसी वस्तुएं मिलीं हैं जो शायद विमान की हैं.
विमान में कौन लोग सवार थे?
ऐसा माना जा रहा है कि प्लेन में 50 लोग सवार थे जिनमें सात बच्चे, तीन नवजात और 12 चालक दल के सदस्य थे. इस प्लेन की क्षमता 130 यात्रियों की बताई जा रही है.
अधिकारियों का कहना है कि सभी इंडोनेशिया के ही नागरिक थे. इसमें सवार यात्रियों के रिश्तेदार चिंतित होकर पोंतिअनक और जकार्ता एयरपोर्ट पर इंतज़ार कर रहे हैं.
यामन ज़ाई ने रोते हुए पत्रकारों से कहा, ”इस फ्लाइट में मेरे परिवार के चार लोग थे. मेरी पत्नी और तीन बच्चे. मेरी पत्नी ने बच्चे की तस्वीर भेजी थी…भला मैं अंदर से बिना टूटे कैसे रह सकता हूं?”
विमान के बारे में अब तक क्या पता है?
रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ के अनुसार बोइंग 737-500 प्लेन 26 साल पुराना था. स्रिविजया एयरलाइंस के सीईओ जेफ़र्सन इरविन जौवेना ने पत्रकारों से कहा कि प्लेन ठीक स्थिति में था.
उन्होंने कहा कि उड़ान भरने में 30 मिनट की देरी भारी बारिश के कारण हुई थी. स्रिविजया एयरलाइंस 2003 में अस्तित्व में आई. यह स्थानीय बजट की एयरलाइंस है, जिसकी उड़ानें इंडोनेशिया और दक्षिणी-पूर्वी एशियाई देशों तक सीमित है.
इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता से 20 किलोमीटर उत्तर में प्लेन से संपर्क टूटा जो उस जगह से ज़्यादा दूर नहीं है जहां 2018 के अक्तूबर महीने में प्लेन क्रैश हुआ था. तब इंडोनेशियाई लायन एयर फ्लाइट उड़ान भरने के 12 मिनट बाद समंदर में गिर गई थी और कुल 189 लोगों की मौत हुई थी.
तब प्लेन के डिज़ाइन को दुर्घटना के लिए ज़िम्मेदार बताया गया था लेकिन इसमें एयरलाइंस और पायलट की भी ग़लती थी. दुर्घटना के कारण ही बोइंग 737 मैक्स की सर्विस हटाने का फ़ैसला किया गया था.
लेकिन बाद में कई तरह की जाँच और सुधार के बाद दिसंबर में इसकी सर्विस बहाल की गई थी. जकार्ता में मौजूद बीबीसी के जेरोम विरावन का कहना है कि इस दुर्घटना के बाद से कई तरह के गंभीर सवाल उठ रहे हैं. लायन एयर के प्लेन क्रैश के बाद से इंडोनेशियाई एयरलाइंस इंडस्ट्री सुरक्षा को लेकर सवालों के घेरे में है.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *