केजरीवाल के व्‍यवहार से संकेत, सिद्धू और आप में जरूर पक रही है कुछ खिचड़ी

पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हैं। इस बीच आम आदमी पार्टी ने भी प्रदेश में अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं।
सोमवार को पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब पहुंचे। यहां उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर जो बयान दिया, इससे अटकलों का बाजार भी गर्म हो गया है। कयास लगाए जाने लगे हैं कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।
इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर अरविंद केजरीवाल ने भी खंडन नहीं किया, जिससे ऐसी संभावनाओं को बल मिल रहा है। अमृतसर में मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कोई सिख ही होगा, जिस पर पूरा पंजाब गर्व करता हो। इस बीच जब उनसे पूछा गया कि क्या नवजोत सिंह सिद्धू की नजर आम आदमी पार्टी में कोई भूमिका निभाने पर है तो अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘वो (सिद्धू) कांग्रेस के नेता हैं और मैं उनका बहुत सम्मान करता हूं।’
केजरीवाल ने अटकलों से नहीं किया इंकार
केजरीवाल ने कहा, ‘सिद्धू कांग्रेस के सम्मानित नेता हैं। ऐसे में उनके बारे में इस तरह की लूज टॉक नहीं करनी चाहिए।’ केजरीवाल ने इन अटकलों से साफतौर पर इंकार नहीं किया। इस आधार पर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सिद्धू और आप में कुछ खिचड़ी जरूर पक रही है। हालांकि, अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि अगर (सिद्धू के आप में शामिल होने की) दिशा में कोई डिवेलपमेंट होता है तो वह जरूर बताएंगे।
पूर्व आईजी आप में हुए शामिल
इस बीच अमृतसर में पूर्व आईजी विजय प्रताप ने केजरीवाल की उपस्थिति में आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। उनके आप में शामिल होने पर केजरीवाल ने कहा कि कुंवर विजय प्रताप राजनेता नहीं हैं। उन्हें आम आदमी का पुलिसवाला कहा जाता था। हम सभी यहां देश की सेवा करने के लिए हैं। इसी भावना के साथ उन्होंने आज पार्टी का हाथ थामा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि बरगाड़ी में गुरुग्रंथ साहिब के अपमान मामले में दोषियों को सजा जरूर मिलेगी और मामले में इंसाफ होगा। पंजाब में आप के सीएम उम्मीदवार पर सवाल किए जाने पर केजरीवाल ने कहा कि प्रदेश में पार्टी का सीएम कैंडिडेट सिख समुदाय से ही होगा, जिस पर पूरा पंजाब गर्व करता है।
कांग्रेस-सिद्धू में टकराव
इधर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर कांग्रेस में घमासान मचा है। हाईकमान की कमेटी ने नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश में डेप्युटी सीएम बनाने का फार्म्युला दिया था, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया है। इस बीच पार्टी ने उन्हें संगठन में राष्ट्रीय स्तर पर पद दिए जाने का भी प्रस्ताव दिया है लेकिन उसे भी सिद्धू ने नकार दिया है। सिद्धू का कहना है कि वह पंजाब की राजनीति में ही दिलचस्पी रखते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *