भारत का इरादा दहशत पैदा करने का नहीं, विश्‍व गुरू बनने का है: राजनाथ

यरुशलम। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को यहां कहा कि भारत दूसरे देशों के दिलों में दहशत पैदा करने के लिए बलवान नहीं बनना चाहता। उसका इरादा विश्व गुरू बनने का है। वे यहां बीजेपी के राष्ट्र रक्षा महायज्ञ से पहले निकाली जा रही ‘जल-मिट्टी रथयात्रा’ को हरी झंडी दिखाने पहुंचे थे। इस महायज्ञ के जरिए बीजेपी 2019 के चुनाव से पहले देश में राष्ट्रवाद की लहर लाना चाहती है ताकि माहौल उसके पक्ष में हो सके।
जम्मू की सरहद और डोकलाम से भी मिट्टी लाई जाएगी
ये रथ यात्रा देश के कोने-कोने में जाकर यज्ञ कुंड के लिए मिट्टी और पानी इकट्ठा करेगी।
देश के प्रमुख तीर्थ स्थलों, जम्मू-कश्मीर की सरहद और डोकलाम से भी मिट्टी और जल लाया जाएगा.
‘हम विश्व कल्याण के लिए काम करते हैं’
राजनाथ सिंह ने कहा कि यह यज्ञ देश की एकता और अखंडता के लिए किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि हम विश्व कल्याण के लिए काम करते हैं। हमारा देश वसुधैव कुटुम्बकम की बात करता है।
1111 ब्राह्मण 2.25 करोड़ मंत्रों का उच्चारण करेंगे
बीजेपी की ओर से किया जा रहा यह मां बगलामुखी महायज्ञ है। इसके लिए लाल किले के पास 108 कुंड बनाए जा रहे हैं।
यह महायज्ञ 18 मार्च से 25 मार्च तक चलेगा। इसमें 1111 ब्राह्मण 2.25 करोड़ मंत्रों का उच्चारण करेंगे।
प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति भी इनवाइट
इस यज्ञ में देशभर के साधु-संत हिस्सा लेंगे। आम नागरिकों और कारोबारियों को भी बुलाया गया है।
इस यज्ञ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी इनवाइट किया गया है।
-एजेंसी