भारत का “Detroit” बन सकता है साणंद

माना जा रहा है कि गुजरात का यह शहर भारत का “Detroit” बन सकता है। पश्चिम बंगाल से बेघर होने के बाद टाटा मोटर्स की नैनो को गुजरात के साणंद में शरण मिली थी। आज कंपनी की बिकने वाली हर तीन में से दो कारें साणंद में बनती हैं। सुजुकी, फोर्ड, होंडा और हीरो मोटोकॉर्प भी यहां अपनी फैक्ट्रियां चला रही हैं।
“Detroit” अमेरिका के मिशिगन राज्य का एक शहर है। यहां फोर्ड सहित कई बड़ी कार कंपनियों की फैक्ट्री है। इस शहर को मोटर सिटी के नाम से भी जाना जाता है।
सुजुकी की लोकल यूनिट के चेयरमैन आरसी भार्गव ने बताते हैं कि साणंद का इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छा है। उद्योगों की मदद के लिए राज्य सरकार हमेशा तैयार रहती है। इसने कंपनियों को यहां निवेश के लिए प्रोत्साहित किया है।
भार्गव ने बताया कि तीन दशक पहले तक गुरुग्राम गांव हुआ करता था। देखते ही देखते वह मेगासिटी में तब्दील हो गया। मैन्युफैक्चरिंग गतिविधियां बढ़ने के कारण ठीक वैसे ही साणंद भी प्रमुख आर्थिक केंद्र के रूप में विकसित हो रहा है।
जब सुजुकी साणंद में आर्इ थी, तब वहां कोर्इ इन्फ्रास्ट्रक्चर नहीं था। अब स्कूल, शॉपिंग मॉल सभी कुछ यहां बन रहा है। आने वाले पांच सालों में यहां गतिविधियां बढ़ने वाली हैं। सब कुछ योजना के हिसाब से आगे बढ़ा तो सुजुकी आने वाले एक दशक में गुजरात में 15 लाख वाहन तैयार करेगी।
फोर्ड इंडिया ने राज्य में एक अरब से ज्यादा निवेश की प्रतिबद्धता जतार्इ है। कंपनी जल्द ही डेढ़ लाख वाहन तैयार करने के आंकड़े को पार करने वाली है। होंडा मोटरसाइकिल ऐंड स्कूटर की साणंद में दुनिया की सबसे बड़ी स्कूटर फैक्ट्री है।
-एजेंसी