Rani Rampal की हैट्रिक के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम ने थाईलैंड को हराया

भारत के लिए इस मैच में कप्तान Rani Rampal ने गोल की हैट्रिक लगाई, जबकि मोनिका और नवजोत कौर ने एक-एक गोल किया

जकार्ता-पालेमबांग। इंडोनेशिया में चल रहे 18वें एशियाई खेलों में आज सोमवार को भारत के लिए इस मैच में कप्तान Rani Rampal ने गोल की हैट्रिक लगाकर भारतीय महिला हॉकी टीम ने पूल बी के मैच में थाईलैंड को 5-0 से करारी शिकस्त दी।

भारत के लिए इस मैच में कप्तान Rani Rampal ने गोल की हैट्रिक लगाई, जबकि मोनिका और नवजोत कौर ने एक-एक गोल किया।

पूल बी के इस मैच में थाईलैं के खिलाफ पहला गोल Rani Rampal ने तीसरे क्वार्टर के 10वें मिनट में किया। इसके बाद चौथे क्वार्टर की शुरुआत में ही रानी ने दूसरा गोल कर टीम को 2-0 की बढ़त दिलाई। इसके बाद चौथे क्वार्टर के 13वें मिनट में भारत को मिले एक पेनाल्टी कॉर्नर पर मोनिका ने तीसरा गोल दागा।

चौथे व आखिरी क्वार्टर में नवजोत कौर ने भारत के लिए चौथा गोल कर थाईलैंड को बुरी तरह पछाड़ा। टीम के लिए आखिरी व पांचवां गोल रानी रामपाल की हॉकी से आखिरी क्वार्टर के पांचवें मिनट में निकला। बता दें कि 18वें एशियाई खेलों में जीत के रथ पर सवार भारतीय महिला हॉकी टीम ने अपना विजयी अभियान जारी रखा। शनिवार को महिला हॉकी के एक मुकाबले में कोरिया को 4-1 से हराते हुए भारतीय टीम ने पूल बी में टॉप किया था।

पहले से सेमीफाइनल राउंड के लिए क्वालीफाई कर चुकी भारतीय हॉकी टीम का सामना अब चीन या जापान में से किसी एक टीम से होगा। पूल ए में जो टीम अपना मुकाबला जीतेगी, उसका सामना सेमीफाइनल में भारत से होगा।

पिता ने घोड़ागाड़ी हांक-हांक कर पाला और बेटी ने टीम इंडिया की कैप्टन बनकर सिर फक्र से ऊंचा कर दिया। अब उन्होंने एशियन गेम्स में थाइलैंड के खिलाफ 3 गोल दागे हैं।

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल की, जो हरियाणा के शाहबाद की रहने वाली हैं। हरियाणा में अंबाला के एक छोटे गांव की बेटी रानी रामपाल की जिंदगी बचपन से ही दुश्वारियों से गुजरी। पिता ठेला चलाते थे और आज जब बेटी एक मुकाम पर पहुंच गई है, दुनिया में नाम रोशन कर रही है, पिता आज भी घोड़ागाड़ी ही हांकते हैं। वहीं रानी को इस बात की जरा भी हिचक नहीं है कि उसके पिता आज भी मजदूरी करते हैं, बल्कि उसे अपने पिता पर गर्व है और इसलिए Rani Rampal ने नाम के साथ पिता का भी नाम लगा रखा है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »