बेटी की पढ़ाई के लिए भारतीय पैरंट्स ने की आलीशान महल के साथ 12 स्टाफ की व्यवस्था की

ब्रिटेन में एक भारतीय स्टूडेंट मीडिया में छाई हुई है। इसकी वजह शानदार अकैडमिक रेकॉर्ड या कोई बड़ा पद नहीं बल्कि शाही ऐशो-आराम है।
द सन में छपी खबर के अनुसार एक भारतीय अरबपति की बिटिया इन दिनों स्कॉटलैंड के सेंट ऐंडूज यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर रही है। बेटी की पढ़ाई के लिए पैरंट्स ने आलीशान महल के साथ 12 स्टाफ की व्यवस्था की है। स्टाफ में खास तौर पर बटलर, शेफ, मेड, हाउसकीपर, माली और शोफर शामिल हैं।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 4 साल की पढ़ाई के लिए पैलेस के साथ ही खास तौर पर अपने काम में विशेषज्ञ स्टाफ की नियुक्ति का ध्यान रखा गया है। परिवार बहुत अधिक संभ्रांत है इसलिए सिर्फ अनुभवी और कुशल स्टाफ की नियुक्ति को ही तरजीह दी गई है। बटलर का काम खास तौर पर मेन्यू देखना होगा और टीम कैसे खाना बना रही है, इस पर निगरानी करनी है। फुटमैन का काम खाना सर्व करना और टेबल की सफाई है।
परिवार ने नौकर के लिए दिए विज्ञापन में ‘खुशमिजाज, ऊर्जा से भरपूर और आत्मविश्वास से भरे हुए’ की जरूरत लिखा है। माना जा रहा है कि किसी भारतीय स्टूडेंट का पढ़ाई के लिए इतना खर्चीला रहन-सहन अब तक का पहला उदाहरण है। इसके साथ ही पर्सनल स्टाफ के लिए काम की जो सूची है, उनमें जरूरत के वक्त दरवाजा खोलना, दूसरे स्टाफ के साथ रूटीन शिड्यूल बनाना, वॉर्डरोब मैनेजमेंट और पर्सनल शॉपिंग भी शामिल है।
मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि जरूरत के वक्त हमेशा दरवाजा खोलने के लिए तैयार स्टाफ की सैलरी लगभग 30,000 पाउंड प्रतिवर्ष है। परिवार का इस शाही खर्चे को लेकर मानना है कि बहुत अधिक संभ्रांत परिवेश से आने के कारण वह बेटी की पढ़ाई में किसी तरह की कोताही नहीं करना चाहते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »