ये हैं पूरी दुनिया का चक्‍कर लगाकर भारत लौटी INSV Tarini की जांबाज अफसर

नईदिल्‍ली। INSV Tarini की जांबाज अफसर लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी की अगुवाई में टीम ने 254 दिन में 26 हजार समुद्री मील का सफर तय किया। बोट पर 254 दिनों में पूरी दुनिया का चक्‍कर लगाकर भारत लौटीं नौसेना की 6 जाबांज महिला अफसर।
पूरी दुनिया का चक्कर लगाकर नौसेना की जाबांज महिलाएं सोमवार को भारत लौट आईं। आठ महीने से ज्यादा समय में समुद्र के रास्ते दुनिया को नापने वाली ‘INSV तारिणी’ की चालक दल की महिला सदस्य गोवा पहुंच गईं। लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी की अगुवाई में टीम ने 254 दिन में 26 हजार समुद्री मील का सफर तय किया। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और नौसेना प्रमुख सुनील लांबा ने गोवा तट पर उनका स्‍वागत किया।

इस अभियान का नाम ‘नाविका सागर परिक्रमा’ था और पिछले साल 10 सितंबर को आईएनएस मांडवी बोट पुल से रवाना की गई थी। इस अभियान का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी कर रही थीं और इसमें चालक दल की सदस्य लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, स्वाति पी, लेफ्टिनेंट ऐश्वर्या बोड्डापति, एस विजया देवी और पायल गुप्ता समेत शामिल थीं।

इन्होंने 55 फुट के ‘INSV Tarini’ में अपना यह सफर पूरा किया, भारतीय नौसेना में इसे पिछले साल 18 फरवरी को शामिल किया गया था। नौसेना ने बताया कि सभी महिला चालक सदस्‍यों की यह पहली उपलब्धि है।

नौसेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह यात्रा छह चरण में पूरी की गई है और चालक दल ने इस दौरान फ्रेमांटले (ऑस्ट्रेलिया), लाइटिलटन (न्यूजीलैंड), पोर्ट स्टैनली (फॉकलैंड द्वीप), केप टाउन (दक्षिण अफ्रीका) और मॉरीशस में अपना पड़ाव डाला।

प्रवक्ता ने बताया कि चालक दल ने अपनी यात्रा के दौरान 21,600 नॉटिकल माइल की दूरी तय की और दो बार भूमध्य रेखा, तारिणी चार महाद्वीपों और तीन सागरों को पार किया।

 

वहीं, पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘INSV Tarini के भारतीय नौसेना के महिला दल को नाविका सागर परिक्रमा पूरी करने पर हार्दिक बधाई। देश लौटने पर आपका स्वागत है। समूचे देश को आप पर गर्व है।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »