भारतीय सेना का हेलिकॉप्टर भूटान में क्रैश, दोनों पायलट शहीद

नई दिल्‍ली। भारतीय सेना का एक चीता हेलिकॉप्टर भूटान में क्रैश हो गया जिसमें दोनों पायलट शहीद हो गए। सूत्रों के मुताबिक इस दुर्घटना में शहीद होने वाले पायलट में एक लेफ्टिनेंट कर्नल स्‍तर का भारतीय अधिकारी Lt Col Rajneesh Parmar  शामिल है।

Lt Col Rajneesh Parmar is the Indian Army pilot killed in today’s Cheetah helicopter crash in Bhutan. Was on a training flight with a young Royal Bhutan Army pilot Capt. Kalzang Wangdi. Terrible tragedy.
Lt Col Rajneesh Parmar is the Indian Army pilot killed in today’s Cheetah helicopter crash in Bhutan. Was on a training flight with a young Royal Bhutan Army pilot Capt. Kalzang Wangdi. Terrible tragedy.

भूटान में क्रैश होने वाले हेलीकॉप्टर के दूसरे पायलट भूटान के पायलट थे, जो कि भारतीय सेना के साथ प्रशिक्षण ले रहा था। घटना दोपहर 1 बजे के आसपास की है जब हेलिकॉप्टर से अचानक संपर्क टूट गया। चीता ने खिरमू (अरुणाचल प्रदेश) से योंगफुल्ला के लिए उड़ान भरी थी। इसके मलबे का पता लगा लिया गया है।

चीता को कहते हैं ‘डेथ ट्रैप’
बता दें कि 80 के दशक से इस्तेमाल किए जा रहे चीता हेलिकॉप्टर को अब ‘डेथ ट्रैप’ भी कहा जाने लगा है। आर्मी अफसर लंबे समय से इसे हटाने की मांग कर रहे हैं। ये हेलिकॉप्टर आज भी 60 के दशक की तकनीक से उड़ान भर रहे हैं। चीता हेलिकॉप्टर अपनी तय उम्र से ज्यादा सेवा दे रहे हैं।
सेना में करीब 170 चीता और चेतक हेलिकॉप्टर हैं।1990 में ही इनका प्रोडक्शन रोक दिया गया था। फ्रांस की जिस सरकारी कंपनी के लाइसेंस पर हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड ये हेलिकॉप्टर बना रही थी, वह साल 2000 से बंद है। हाल ही आठ अपाचे मॉडर्न हेलिकॉप्टर सेना में शामिल किए गए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *