भारतीय वायु सेना एचएएल से खरीदेगी 8 Sukhoi लड़ाकू विमान

8 Sukhoi लड़ाकू विमान की कीमत 3 हजार करोड़

नई दिल्‍ली। भारतीय वायु सेना एचएएल (हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लि.) से 8 Sukhoi 30 एमकेआई लड़ाकू विमान खरीदने पर विचार कर रही है। एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि इनकी कुल कीमत 3 हजार करोड़ रुपये होगी। अभी योजना पहले चरण में है और एचएएल को नए Sukhoi विमानों के लिए आर्डर देने पर विचार चल रहा है। एयरफोर्स के एक अधिकारी का कहना है कि हादसों में हमारे कई विमान क्रैश हो चुके हैं। नए विमानों से उनकी क्षतिपूर्ति की जाएगी।

सूत्रों का कहना है कि 2021-22 तक लड़ाकू विमानों के 13.5 स्क्वाड्रन होंगे। हादसों में कई विमान हो चुके हैं क्रैश, नए विमानों से होगी क्षतिपूर्ति।

एयरफोर्स के एक अधिकारी ने बताया कि मीडिया की कुछ रिपोर्ट में कहा जा रहा था कि एचएएल ने वायुसेना को 40 विमान बेचने की पेशकश की है। ये अत्याधुनिक तकनीक से लैस होंगे। लेकिन, फिलहाल वायु सेना 8 विमानों के लिए ही आर्डर देने की योजना बना रही है।

एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि 2021-22 तक वायुसेना के पास लड़ाकू विमानों के 13.5 स्क्वाड्रन होंगे। इनमें से कुछ को रिजर्व रखा जाएगा। वायुसेना के पास अभी उच्च तकनीक से लैस हैवीवेट लड़ाकू विमानों के 12 स्क्वाड्रन हैं।

272 सुखोई 30 एमकेआई रूस से खरीदेगा भारत

एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि वायुसेना 272 सुखोई 30 एमकेआई विमान रूस से खरीदने जा रही है। ये कई चरणों में वायुसेना को मिलेंगे। ये विमान मिग-21, मिग-27, मिग-23, मिग-29 और जगुआर की जगह लेंगे। सरकार ने वायुसेना में 42 स्कवार्डन मंजूर किए हैं। लेकिन अभी कुल 31 स्क्वाड्रन ही वायुसेना के पास हैं।

राफेल विमानों के होंगे 2 स्कवार्डन

सरकार ने वायुसेना में जो 42 स्क्वाड्रन मंजूर किए हैं, उनमें 2 राफेल लड़ाकू विमानों के हैं। सरकार की योजना है कि 114 लड़ाकू विमानों को वायुसेना में शामिल किया जाए, जिससे इनकी कमी पूरी हो सके।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »