भारत ने जीती सीरीज, आखिरी One-day में विंडीज को 9 विकेट से रौंदा

तिरुवनंतपुरम। तिरुवनंतपुरम में आज पांचवें और आखिरी One-day को 9 विकेट से जीतकर टीम इंडिया ने लगातार छठी घरेलू सीरीज अपने नाम की। यह गेंदों के लिहाज से भारत की One-day में दूसरी सबसे बड़ी जीत भी है।

टॉस जीतकर वेस्टइंडीज के द्वारा दिए गए 105 रन के लक्ष्य को ‘कोहली की टोली’ ने 14.5 ओवर में 9 विकेट से ही जीत लिया। उपकप्तान रोहित शर्मा 63* तो कप्तान विराट कोहली 33 रन बनाकर नाबाद लौटे।

शिखर धवन फिर फ्लॉप
भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और उसे पहले झटका दूसरे ओवर में लगा। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन महज 6 रन बनाकर अपना विकेट गंवा बैठे। उन्हें ओशाने थॉमस ने बोल्ड कर पवेलियन की राह दिखाई।

धवन इस सीरीज में प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। उन्होंने सीरीज में एक भी अर्धशतक नहीं लगाया। चौथे वनडे में वह अर्धशतक से चूक गए थे और 38 रन बनाकर आउट हो गए। धवन पहले मैच में जहां सिर्फ 4 रन बनाकर आउट हो गए वहीं, दूसरे और तीसरे वनडे में उन्होंने क्रमश: 29 और 35 रन की पारी खेली थी।

वेस्टइंडीज की पारी 104 रन पर सिमटी। भारत की ओर से रविंद्र जडेजा ने चार जबकि जसप्रीत बुमराह और खलील अहमद ने दो-दो विकेट चटकाए। वेस्टइंडीज की तरफ से जेसन होल्डर ने सर्वाधिक 25 जबकि मार्लन सैमुअल्स ने 24 रन बनाए।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने बेहद निराशाजनक आगाज किया। मेहमान टीम को मैच के पहले ही ओवर में कीरोन पॉवेल के रूप में पहला झटका लगा। सलामी बल्लेबाज पॉवेल बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। भुवी ने कीरोन पॉवेल को विकेटकीपर धोनी के हाथों झिलवाया।

मेहमान टीम अभी इस सदमे से उबरी भी नहीं थी कि बुमराह ने अगले ओवर में शाई होप को बोल्ड कर दिया। सीरीज में दो शानादर पारी खेल चुके शाई होप एक बार फिर शून्य पर अपना विकेट गंवा बैठे। दूसरे ओवर की चौथी गेंद पर जसप्रीत बुमराह की अंदर आती गेंद को क्रीज पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और क्लीन बोल्ड हो गए।

यहां से विंडीज टीम ने संभलकर खेलना शुरू किया। टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी मार्लोन सैमुअल्स ने जरूर कुछ अच्छे हाथ दिखाए। मगर जल्द ही उनकी पारी भी समाप्त हो गई। तीन चौके और एक छक्के की मदद से 38 गेंदों में 24 रन बनाने के बाद वे रवींद्र जडेजा के शिकार हुए। एक्सट्रा कवर में कोहली ने उन्हें लपका।

मेहमान टीम को हेटमेयर के रूप में चौथा झटका लगा। महज 9 रन बनाकर पहले One-day का शतकवीर जडेजा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गया। अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया था, लेकिन जडेजा ने रिव्यू लिया और फैसला उनके पक्ष में रहा।

कैरेबियाई टीम की मुश्किलें उस वक्त और बढ़ गई जब खलील की बाउंसर को पुल करने के प्रयास में रोवमैन पॉवेल (16) ने डीप स्क्वेयर लेग पर धवन को कैच थमाया। इस तरह 57 रन पर इंडीज की आधी टीम पवेलियन में पहुंच गई।

66 रन पर वेस्टइंडीज का छठा विकेट गिरा। फेबियन ऐलन चार रन बनाकर आउट हुए। बुमराह की एक शॉर्ट बॉल जो दाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए अंदर की ओर आ रही थी उन्होंने उस पर हुक किया, लेकिन बल्ले का ऊपरी किनारा लेते हुए हवा में सैरती गेंद को लपकने में केदार जाधव ने कोई गलती नहीं की।

उम्मीदों के बोझ तले जैसन होल्डर (25) भी बिखर गए। कुल स्कोर में 21 रन जुड़ने के बाद होल्डर ऑन द राइज खेलने की कोशिश में खलील अहमद का दूसरा शिकार बने। केदार जाधव ने मिड ऑफ क्षेत्र में मैच के अपने दूसरे कैच को पकड़ने में कोई गलती नहीं की।

कुलदीप यादव का दूसरा और विंडीज का आठवां विकेट कीमो पॉल के रूप में लगा। 5 रन के निजी स्कोर में वे रायुडू के हाथों धरे गए।

रवींद्र जडेजा ने 32वें ओवर में वेस्टइंडीज की पारी खत्म कर दी। पहले केमार रोच (5) और फिर थॉमस बिना खाता खोले उनके शिकार बने।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »