भारत बनाम इंग्‍लैंड: फाइनल से कम नहीं है आज का T20 मैच

अहमदाबाद। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद में T20 सीरीज का पांचवां और अंतिम मुकाबले में उतरेगी तो उसकी निगाहें ट्रॉफी पर होंगी। मेजबान टीम इस सीरीज में आगामी टी20 वर्ल्ड कप के लिए खाका तैयार करने के इरादे से उतरी थी लेकिन आज जब वह अंतिम मुकाबले में उतरेगी तो उसकी प्राथमिकता वर्ल्ड कप टीम नहीं, बल्कि सीरीज में जीत होगी। सीरीज फिलहाल 2-2 से बराबरी पर है और मेजबान होने के नाते भारतीय टीम किसी भी हाल में सीरीज गंवाना नहीं चाहेगी।
वहीं, टी20 की वर्ल्ड रैंकिंग्स में नंबर वन पर चल रही इंग्लैंड की टीम भी अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाएगी। सीरीज का यह पांचवां और अंतिम टी20 मैच किसी बड़े फाइनल से कम नहीं है।
मिले दो तुरुप के इक्के
इस स्थिति में टीम इंडिया इस मुकाबले में बिना कोई जोखिम लेते हुए अपनी बेस्ट इलेवन ही उतारना चाहेगी और एक तरह से यह वर्ल्ड कप के लिए अपनी मुख्य टीम का खाका तैयार करने की तरफ एक मजबूत कदम भी कहलाएगा।
भारत ने अब तक सीरीज में बेपरवाह रवैया अपनाया है। कुछ नए चेहरों को आजमाया भी और बेंच मजबूत करने में सफलता भी मिली। सीरीज के दौरान टीम को ईशान किशान और सूर्यकुमार यादव के रूप में तुरुप के इक्के मिले हैं। इन दोनों ने अच्छी पारियां खेलकर टीम को नए विकल्प उपलब्ध कराए हैं।
तेवतिया को मिलेगा मौका!
ईशान किशन और सूर्यकुमार ने जहां अपनी पहली सीरीज में बड़ा प्रभाव छोड़ा वहीं हरियाणा के ऑलराउंडर राहुल तेवतिया टीम में शामिल एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें पदार्पण का मौका नहीं मिला है। आज हालांकि उन्हें अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिल सकता है।
राहुल बने कमजोर कड़ी
टॉप ऑर्डर में लोकेश राहुल की फॉर्म भारत के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने पहले तीन मैचों में एक, शून्य और शून्य का स्कोर बनाया और चौथे मैच में भी 14 रन से आगे नहीं बढ़ पाए। यह देखने वाली बात होगी कि टीम मैनेजमेंट उन्हें आखिरी मुकाबले में मौका देता है या नहीं। भारत के लिए इस सीरीज का एक और सकारात्मक पहलू हार्दिक पंड्या का गेंदबाजी में योगदान देना रहा। हालांकि वह बल्ले से वह कमाल नहीं दिखा सके हैं।
मॉर्गन भी पूरी तरह तैयार
इंग्लैंड भी जोस बटलर और विश्व के नंबर एक बल्लेबाज डेविड मलान के प्रदर्शन में निरंतरता की उम्मीद कर रहा होगा। तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड ने प्रभाव छोड़ा लेकिन उन्हें क्रिस जॉर्डन से पर्याप्त सहयोग नहीं मिला जिन्होंने चौथे टी20 में सर्वाधिक रन लुटाए। लेकिन क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में बादशाहत की जंग में इंग्लैंड की निगाहें सीरीज जीतकर वर्ल्ड कप के लिए अपनी तैयारियों को मूर्तरूप देना है। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन ने कहा, ‘हम वास्तव में इस तरह के मैचों में खेलना चाहते हैं जहां स्थिति करो या मरो वाली होती है। विदेशी धरती पर खेलना और सीरीज जीतना शानदार होगा।’
संभावित प्लेइंग-XI
भारत: रोहित शर्मा, ईशान किशन, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, राहुल तेवतिया, शार्दुल ठाकुर,राहुल चाहर और भुवनेश्वर कुमार
इंग्लैंड: जोस बटलर, जेसन रॉय, डेविन मलान, जॉनी बेयरस्टो, इयोन मॉर्गन (कप्तान), बेन स्टोक्स, सैम कुरन, मार्क वुड, जोफ्रा आर्चर, क्रिस जॉर्डन और आदिल राशिद
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *