भारत ने LAC पर किया 10 आकाश मिसाइलों का परीक्षण

नई दिल्‍ली। चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा LAC पर तनाव के बीच भारत ने 10 आकाश मिसाइलों का परीक्षण किया। यह मिसाइल दुश्मनों के विमानों को मार गिराने में सक्षम हैं। आंध्र प्रदेश के सूर्यलंका परीक्षण रेंज में पिछले सप्ताह किए गए परीक्षण काफी सफल रहे हैं क्योंकि दागी गई अधिकांश आकाश मिसाइलों में अपने टारगेट पर सीधा प्रहार किया है।
इन आकाश मिसाइलों का भारतीय वायु सेना की ओर से कम्बाइंड गाइडेट वैपन्स फायरिंग 2020 एक्सरसाइज के दौरान फायर किया गया था। फायरिंग के दौरान अधिकांश मिसाइलों मे अपने लक्ष्य पर सीधा प्रहार किया। भारतीय वायु सेना ने आकाश मिसाइलों के साथ-साथ इग्ला (Igla) कंधे से हवा में मार करने वाली मिसाइलों का भी परीक्षण किया।
इन मिसाइलों को लेकर दिलचस्प बात यह है इन दोनों को पूर्वी लद्दाख और एलएसी के अन्य क्षेत्रों में तैनात किया गया है, ताकि दुश्मन के किसी भी विमान को भारतीय वायु अंतरिक्ष का उल्लंघन पर जवाबी कार्यवाही के लिए तैनात किया गया है। सूत्रों की माने तो आकाश सबसे सफल स्वदेशी हथियार प्रणालियों में से एक है और यह रक्षा बलों की स्वदेशी हथियारों से युद्ध करने की उम्मीदों पर भी खरा उतरता है।
आकाश मिसाइल को हाल ही में अपग्रेड किया गया है, जिसके बाद से यह पहले से और बेहतर तरीके से निशाना लगाने में सक्षम है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) आकाश प्राइम मिसाइल प्रणाली पर काम कर रहा है, जो इसे बहुत अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर भी लक्ष्य हासिल करने में सक्षम बनाएगी।
आकाश के बारे में आपको बता दें किय यह एक मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल रक्षा प्रणाली है जिसे रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा विकसित किया गया है और भारत डायनामिक्स लिमिटेड और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड द्वारा निर्मित किया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *