भारत ने कहा, कुलभूषण जाधव पर ICJ का फैसला अंतिम और पाकिस्‍तान के लिए बाध्‍यकारी

नई दिल्‍ली। विदेश मंत्रालय ने कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगाने के इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ICJ के फैसले का स्वागत किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा कि ICJ के फैसले से भारत का पक्ष सही साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को फैसले को बिना किसी देरी के लागू करना होगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला अंतिम है, बाध्यकारी है और इसके खिलाफ अपील भी नहीं हो सकती।
पाकिस्तान का दावा है कि ICJ में उसकी ‘जीत’ हुई है। इस पर रवीश कुमार ने तंज भी कसा। उन्होंने कहा, ‘मुझे ऐसा लगता है कि वे किसी अन्य फैसले को पढ़ रहे हैं। मुख्य फैसला 42 पेज का है और अगर उनके पास सभी 42 पेजों को पढ़ने का धैर्य नहीं है तो उन्हें फैसले को लेकर ICJ के 7 पेज की प्रेस रिलीज को पढ़ना चाहिए। हर पॉइंट भारत के पक्ष में है। प्रेस रिलीज के पहले ही पैराग्राफ में कहा गया है कि फैसला अंतिम है, बाध्यकारी है और इसके खिलाफ अपील नहीं हो सकती।’
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि वियना कन्वेंशन के मुताबिक पाकिस्तान को बिना किसी देरी के भारत को जाधव तक कांसुलर ऐक्सेस देना होगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को जाधव की सजा की प्रभावी समीक्षा के लिए हर जरूरी कदम उठाने होंगे। उन्होंने कहा कि ICJ संयुक्त राष्ट्र की प्रमुख न्यायिक संस्था है और उसके आदेश बाध्यकारी हैं।
‘उम्मीद है कि हाफिज की गिरफ्तारी ड्रामा न हो’
मुंबई हमले के मास्टरमाइंड जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की पाकिस्तान में गिरफ्तारी पर कुमार ने कहा कि यह ड्रामा लंबे वक्त से चलता रहा है। उन्होंने कहा, ‘हाफिज की गिरफ्तारी, रिहाई का ड्रामा लंबे समय से जारी है। कम से कम 8 बार ऐसा हो चुका है। हाफिज सईद अंतर्राष्ट्रीय आतंकी है, उस पर 100 करोड़ डॉलर का इनाम है, वह मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है। पाकिस्तान पर FATF (फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स) का दबाव है, उसे आतंक के खिलाफ ईमानदार कार्यवाही करने होंगे। उम्मीद है कि पाकिस्तान हाफिज सईद के खिलाफ इस बार ईमानदारी से कार्यवाही करेगा।’ कुमार ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ भारत और अमेरिका में बेहतर सहयोग है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »