स्‍वतंत्रता दिवस: इस साल लाल किले पर दिखाई देंगे कई बदलाव

इस साल स्‍वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन तो होगा, मगर कोरोना की वजह से कई बदलाव देखने को मिलेंगे।
गृह मंत्रालय ने सभी राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा है कि वे बड़े जुलूसों से बचें। मंत्रालय ने सबसे टेक्‍नोलॉजी का ज्‍यादा से ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने की अपील की है। इस स्‍वतंत्रता दिवस पर लाल किले में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा, फिर 21 बंदूकों की सलामी होगी और उसके बाद प्रधानमंत्री का संबोधन होगा। सबसे अंत में राष्‍ट्रगान होगा। राज्‍यों/केंद्रशासित प्रदेशों से इस बार कोविड वॉरियर्स को बुलाने को कहा गया है।
लाल किले की हो रही खास कोटिंग
प्रधानमंत्री मोदी को कोरोना वायरस से बचाने के लिए इस बार लाल किले की तमाम जगहों पर खास कोटिंग की जा रही है। ये वे जगहें हैं जिन्‍हें प्रधानमंत्री समारोह के दौरान छू सकते हैं। इसमें लाल किले की प्राचीर से लेकर मंच और रेलिंग तक शामिल हैं। यह खास कोटिंग कोरोना वायरस को पांच से सात दिन तक पनपने नहीं देती है। इससे पीएम के अलावा करीब 150 वीआईपी को भी सुरक्षा मिलेगी।
पहली बार हिस्‍सा नहीं लेंगे बच्‍चे
कोरोना के चलते इस बार लाल किले पर आजादी के जश्‍न में बच्‍चों को शामिल नहीं किया जाएगा। हर बार उनकी मौजूदगी से माहौल बना रहता था मगर इस बार थर्माकोल से प्रतीक बनाए जाएंगे।
डेढ़ हजार कोरोना वॉरियर्स होंगे शामिल
इस बार स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में कोरोना वॉरियर्स को खासतौर से शामिल किया जाएगा। करीब डेढ़ हजार कोविड वॉरियर्स इस समारोह का हिस्‍सा होंगे जिनमें दिल्‍ली पुलिस के 200 जवानों के अलावा पैरामिलिट्री फोर्सेज के जवान होंगे। इसके अलावा कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को भी बुलाया गया है।
कोरोना से बचने के लिए खास इंतजाम
कोरोना को देखते हुए इस बार लाल किले पर खास इंतजाम किए गए हैं। मेटल डिटेक्टर के पास तैनात जवान पीपीई किट पहने दिखेंगे। इसके अलावा जगह-जगह हैंड सैनिटाइजर रखे होंगे। बैठने की व्यवस्था अलग होगी और दो गज की दूरी रखी जाएगी।
बैंड का रिकॉर्डेड वीडियो चलेगा
लोगों की मौजूदगी कम से कम रखने के लिए पूरी समारोह की वेबकास्टिंग होगी। सूत्रों के मुताबिक इस बार सेना या पुलिस का बैंड मौजूद नहीं होगा। उनके बैंड का रिकॉर्ड किया वीडियो लाल किले पर बड़े एलईडी स्क्रीन पर चलाया जाएगा।
मास्‍क और आरोग्‍य सेतु ऐप जरूरी
लाल किले पर स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में शिरकत करने वालों का मास्‍क पहना अनिवार्य होगा। यही नहीं, उनके मोबाइल पर आरोग्‍य सेतु ऐप में स्‍टेटस ग्रीन देखकर ही एंट्री दी जाएगी।
‘आत्‍मनिर्भर भारत’ होगी थीम
गृह मंत्रालय के मुताबिक इस साल स्‍वतंत्रता दिवस समारोह की थीम ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ पर आधारित होगी। गृह मंत्रालय ने राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में समारोहों के लिए भी गाइडलाइंस जारी की हैं।
गार्ड ऑफ ऑनर देने वाले जवान क्‍वारंटीन
रिजर्व पुलिस बल के जवानों को कोविड-19 टेस्ट के बाद 15 दिन पहले ही क्वारंटीन कर दिया गया है। ये सभी वे जवान हैं जो गार्ड ऑफ ऑनर देंगे। करीब 300 जवान हैं जो क्वारंटीन में हैं। उन्हें पुलिस कॉम्प्लेक्स के अंदर, सभी जरूरी नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग नॉर्म्स के साथ रखा गया है। किसी में कोई लक्षण नहीं पाए गए हैं। ये सभी जवान क्वारंटीन हैं। उनमें बैकअप के लिए भी जवानों को रखा गया है।
कम से कम होगी अटेंडेंस
लाल किले पर हर साल करीब एक हजार वीआईपी बुलाए जाते हैं जिसे इस बार 150 तक सीमित कर दिया गया है। सोशल डिस्‍टेंसिंग का पूरा बंदोबस्‍त होगा। कोविड-19 के लक्षण वालों को एंट्री नहीं मिलेगी।
राज्‍यों के लिए क्‍या निर्देश?
गृह मंत्रालय की एडवायजरी के अनुसार राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों की राजधानियों में सुबह 9 बजे के बाद समारोह होंगे। जिसमें ध्‍वजारोहण, राष्‍ट्रगान, पुलिस के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर, मुख्‍यमंत्री का भाषण और फिर राष्‍ट्रगान शामिल होंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *