बच्‍चों में बढ़ाएं आत्मविश्वास, पैरेंट्स के काम आ सकते हैं ये टिप्स

आजकल न सिर्फ अडल्ट बल्कि बच्चों की जिंदगी में भी चैलेंज काफी बढ़ गए हैं। कॉम्पिटिटिव वर्ल्ड को देखते हुए छोटी उम्र से ही माता-पिता उन्हें हर तरह की प्रतियोगिता के लिए तैयार करने लगते हैं। हालांकि, इस सब वजह से नन्हे मन पर काफी दबाव बढ़ जाता है जो उनके आत्मविश्वास को गिरा सकता है। इस स्थिति से निपटने के लिए ये टिप्स पैरेंट्स के काम आ सकते हैं।
तारीफ करना
बच्चे जब अपने पैरेंट्स से तारीफ पाते हैं तो उनके लिए इससे बड़ा मोटिवेशन कुछ नहीं हो सकता। देखा जाता है कि बच्चा अगर कोई काम करता है और माता-पिता इसके लिए उसकी तारीफ करते हैं तो वह बार-बार उस काम को दोहराता है। छोटे सवाल हल किए हों, या फिर प्राइज जीता हो या अच्छी ड्रॉइंग बनाई हो बच्चे की तारीफ जरूर करें।
खुद मुश्किल हल करने दें
डेली लाइफ से जुड़ी चीजे हों या फिर पढ़ाई से जुड़े सवाल, हर चीज में उनकी मदद न करें। एक बार उन्हें गाइड करें और चीजों को समझाएं। इसके बाद उन्हें चीजों को खुद हल करने दें। हालांकि, इस दौरान उन पर नजर बनाए रखें ताकि उनके ज्यादा परेशान होने पर आप फिर से उनकी मदद कर सकें। खुद से मुश्किल हर करने पर बच्चे का कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और वह नई चीजें भी ट्राई करेगा, जो आज के समय की मांग भी है।
बात करें
बच्चे से रोज बात करें। आप भले ही माता-पिता हैं लेकिन उनसे दोस्ती का रिश्ता भी बनाए रखें, ताकि वह आपसे अपनी परेशानी शेयर करें। बच्चा अगर परेशान है और उसे लगता है कि इसके बारे में वह आपसे बात नहीं कर सकेगा या डांट पड़ेगी तो उस स्थिति में वह डिप्रेशन में भी जा सकता है, जो इस कॉम्पिटिटिव वर्ल्ड में उसे कमजोर कर देगा।
इमोशनल ट्रेनिंग
बच्चे में से संवेदनशीलता को खोने न दें। उन्हें गले लगाए, दूसरों की मदद करना सिखाएं, शेयरिंग सिखाएं। इस तरह की आदतें उनके इमोशन्स को जिंदा रखेगी। प्रतियोगिता से भरी दुनिया में अक्सर लोग एक-दूसरे को नुकसान पहुंचा देते हैं और उनमें इमोशन्स की भी कमी होने लगती है। लेकिन अगर बचपन से ही अपने साथ दूसरों की भावनाओं का ख्याल रखना सिखाया जाए तो वे कई तरह के इमोशनल ट्रॉमा से बच सकते हैं।
योग करेगा मदद
योग से चित्त शांत होता है। दिमाग चीजों पर ज्यादा ध्यान दे पाता है, जिससे बच्चे भी अच्छा परफॉर्म कर पाते हैं। योग से उन्हें बचपन से जोड़ें। बच्चा अच्छा परफॉर्म करेगा तो उसका आत्मविश्वास अपने आप बढ़ेगा। वहीं योग की आदत उसे बड़े होने पर भी खुद को शांत रखने के साथ ही चित्त की एकाग्रता को बनाए रखने में मदद मिलेगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »