कैफे कॉफी डे के मालिक के यहां आयकर का छापा: 650 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा

बेंगलुरु। पूर्व केंद्रीय मंत्री एसएम कृष्णा के दामाद और कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे में 650 करोड़ रुपये की अघोषित आय का खुलासा हुआ है. गुरुवार को बेंगलुरु, हासन, चिकमगलूर, चेन्नई और मुंबई में सिद्धार्थ से जुड़ी 25 संपत्तियों पर छापे मारे गए थे. कैफे कॉफी डे का मुख्यालय बेंगलुरु में है. वीजी सिद्धार्थ टूरिज्म, आईटी और अन्य क्षेत्रों के कारोबार से भी जुड़े हैं. आयकर विभाग के एक बयान में बताया गया है कि अभी तक 650 करोड़ रुपये की अघोषित आमदनी का पता लगाया गया है. यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है. आयकर विभाग के मुताबिक इस मामले में नियमों के उल्लंघन की कई बातें सामने आई हैं और इससे जुड़े पुख्ता सबूत मिले हैं. हालांकि आयकर विभाग के छापों के बारे में सिद्धार्थ या एस. एम. कृष्णा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.
सिद्धार्थ भारत में कॉफी आउटलेट की सीरीज कैफे कॉफी डे के संस्थापक-मालिक हैं और जनवरी, 2015 से इसके अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रहे हैं. वह निवेशक भी हैं और उनकी कुछ आईटी कंपनियों में हिस्सेदारी भी है. वह देश में कॉफी के बीजों के सबसे बड़े निर्यातकों में से एक हैं.
सिद्धार्थ के ससुर एस. एम. कृष्णा कई दशकों तक कांग्रेस में रहे और इस दौरान उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में भी काम किया. वह विदेश मंत्री भी बने थे. इसके अलावा उन्होंने महाराष्ट्र के राज्यपाल के रूप में भी काम किया था. इस साल मार्च में वह बीजेपी में शामिल हो गए थे.
-एजेंसी