इनकम टैक्स विभाग ने सहारा की ऐंबी वैली से 24,646 करोड़ रुपए का टैक्‍स मांगा

नई दिल्‍ली। इनकम टैक्स विभाग ने सहारा की ऐंबी वैली लिमिटेड (ए.वी.एल.) से बतौर टैक्स और जुर्माना 24,646 करोड़ रुपए की मांग की है। यह किसी कॉर्पोरेट हाउस से सबसे बड़ी टैक्स डिमांड में एक है।
गौरतलब है कि डिपार्टमेंट ने आंकलन वर्ष 2012-13 में ऐंबी वैली लिमिटेड की आमदनी 48,000 करोड़ रुपए आंकी है। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले सप्ताह अथॉरिटीज को ऐंबी वैली की नीलामी करने का आदेश दिया क्योंकि सहारा ग्रुप निवेशकों को लौटाई जानेवाली कुल रकम 14,000 करोड़ रुपए में से 5,000 करोड़ रुपए बकाया जमा नहीं करा सका।
सेबी के पास जमा कराए 11,000 करोड़ रुपए
ग्रुप के चेयरमैन सुब्रत रॉय पर सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा चल रहा है। उन्हें कोर्ट के निर्देशानुसार निवेशकों के पैसे नहीं लौटाने की वजह से दो सालों तक जेल में रहना पड़ा। अब वो परोल पर जेल से बाहर हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मार्कीट रेग्युलेटर सेबी के पास 11,000 करोड़ रुपए जमा करवा दिए। ये पैसे सहारा रियल एस्टेट ऐंड सहारा हाउजिंग में 25,000 करोड़ रुपए निवेश करने वालों को सूद समेत लौटाए जाने के लिए जमा कराए गए।
कंपनी के अकाउंट्स और बैलेंस शीट में है गड़बड़ी
24 जनवरी 2017 की तारीख से ग्रुप को भेजे गए इनकम टैक्स नोटिस में जल्द-से-जल्द टैक्स अदा करने या और कठोर कार्यवाही का सामना करने की चेतावनी दी गई है। 4 साल की जांच के बाद तैयार इनकम टैक्स के असेसमेंट ऑर्डर में इस बात की ओर इशारा किया गया है कि कंपनी के अकाउंट्स और बैलेंस शीट में सब-कुछ साफ-साफ नहीं है। इनमें सही आय और व्यय का ब्योरा नहीं है। सहारा के प्रवक्ता ने कहा, ‘इनकम टैक्स विभाग ने ऐंबी वैली लिमिटेड की 48,085.79 करोड़ रुपए की आमदनी का आंकलन किया है जिसमें से 24,646.96 करोड़ रुपए इनकम टैक्स की मांग की गई है।’ हालांकि, प्रवक्ता ने विभाग की ओर से अन्य जांच आंकलनों के बारे में बात करने से इंकार कर दिया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *