इस गांव में दिन के वक्‍त नाइटी पहनने पर देना पड़ता है 2 हजार रुपए जुर्माना

राजमुंद्री। आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के एक गांव में पिछले नौ महीने से महिलाएं दिन में नाइटी नहीं पहन रही हैं। वजह, गांव के बुजुर्गों ने आदेश दिया है कि नाइटी केवल रात में पहनने के लिए है इसलिए इसे दिन में न पहना जाए। टोकलापल्‍ली गांव के बुजुर्गों की 9 सदस्‍यों की टीम ने इस आदेश को लागू करवाने के लिए एक खास रणनी‍ति भी बनाई है। गांव में कुल 1800 महिलाएं हैं।
बुजुर्गों ने नियम बनाया है कि अगर कोई महिला सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक नाइटी पहने पाई जाती है तो उस पर 2 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। वहीं अगर कोई महिला किसी महिला के दिन में नाइटी पहनने की सूचना देती है तो उसे 1 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा। नाइटी पर बैन का आदेश हालांकि नौ महीने पहले जारी हुआ था लेकिन गुरुवार को राजस्‍व अधिकारियों के इस गांव का दौरा करने के बाद यह वायरल हो गया।
ये अधिकारी एक जांच के सिलसिले में वहां गए थे। ग्रामीणों ने बताया कि बुजुर्गों ने धमकी दी है कि यदि दोषी महिला ने जुर्माने का भुगतान नहीं किया तो उसका सामाजिक बहिष्‍कार किया जाएगा। ग्रामीणों ने बताया कि उन्‍हें कहा गया है कि वे सरकारी अधिकारियों को कुछ भी न बताएं।
उधर, इस मामले में गांव की सरपंच फंतासिया महालक्ष्‍मी ने कहा कि नाइटी पहनकर खुले में कपड़े धोना, दुकान से सामान लाना और बैठक में शामिल होना ‘अच्‍छा नहीं’ है। उन्‍होंने कहा कि कुछ महिलाओं ने इस पर बैन लगाने के लिए बुजुर्गों से अनुरोध किया था। उन्‍होंने इस बात का खंडन किया कि जुर्माना नहीं देने पर सामाजिक बहिष्‍कार की धमकी दी गई है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »