Pakistan के चुनाव नतीजों में आतंकी हाफिज सईद का पत्ता साफ

इस्‍लामाबाद। Pakistan के आम चुनावों के अभी तक आए रुझान और नतीजों से स्‍पष्‍ट हो रहा है कि मुंबई हमले के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद के समर्थन वाली अल्लाहु अकबर तहरीक (AAT) का चुनाव में पत्ता साफ हो गया। हाफिज की पार्टी को अभी तक एक भी सीट नहीं मिल पाई है।
अभी तक आए रुझान और नतीजों में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) का सत्ता में आना लगभग तय लग रहा है। पाकिस्तान में पीएम की कुर्सी तक पहुंचने का जादुई आंकड़ा 137 सीटों का है। नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग नवाज (PML-N) को पछाड़कर PTI 113 सीटों पर बढ़त और जीत के साथ सबसे आगे है। ऐसे में माना जा रहा है कि इमरान निर्दलीयों का साथ लेकर पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं।
इन चुनावों में पाकिस्तानी आवाम ने बदलाव की उम्मीद में जहां इमरान पर भरोसा जताया है, वहीं कट्टरपंथी इस्लामी पार्टियों को सिरे से खारिज किया है।
पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज को अभी तक के रुझानों में 64 सीटों पर बढ़त मिली है। इसके बाद पीपीपी 43 सीटों पर आगे है।
इसके अलावा बीते साल इस्लामाबाद की रफ्तार थामने वाली तहरीक लब्बैक पाकिस्तान (TLP) भी नतीजों में कहीं नहीं दिख रही है। यह पार्टी ईशनिंदा कानून की सुरक्षा का मुद्दा उठाकर चुनाव लड़ रही थी और साल 2015 में ही इसका गठन हुआ था। पार्टी ने 152 उम्मीदवार खड़े किए थे। अगर अभी तक के रुझान ही नतीजों में बदलते हैं तो AAT और TLP को 272 सीटों में से एक भी सीट पर जीत नहीं मिलेगी।
10 सीटों वाली MMA होगी किंगमेकर?
पाक में 9 सीटों पर मुताहिद्दा मजलिस-ए-अमल (MMA) गठबंधन आगे चल रहा है, जिसमें अति कट्टरपंथी, इस्लामी, धार्मिक और पाकिस्तान की दक्षिणपंथी पार्टियां शामिल हैं। इस गठबंधन ने 173 क्षेत्रों में अपने उम्मीदवार खड़े किए थे, लेकिन फिलहाल 10 सीटें जीतना भी मुश्किल नजर आ रहा है।
हालांकि, सिर्फ 9 सीटों पर जीतकर भी यह पार्टी किंगमेकर बन सकती है। इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी को बहुमत न मिले तो वह MMA का साथ ले सकती है। गुरुवार दोपहर तक PTI 113 सीटों पर आगे चल रही है लेकिन बहुमत के लिए 137 सीटों की जरूरत है। ऐसे में सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद इमरान खान इन छोटी पार्टियों पर ही निर्भर रहेंगे।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *