मथुरा को तीर्थ स्थल घोषित करने के लिए Abhyudaya ने सौंपा मांगपत्र

मथुरा। मथुरा को तीर्थ स्थल घोषित करने के लिए Abhyudaya संस्था ने मेयर डा. मुकेश आर्यबंधु को अपना मांगपत्र सौंपा है जिसमें ब्रज के अन्‍य तीर्थस्‍थलों की भांति ही मथुरा नगरी को भी तीर्थस्‍थल घोषित कराने का प्रस्‍ताव निगम बोर्ड बैठक में रखने की मांग की है।

गौरतलब है कि आगामी 29 जून को मथुरा-वृन्दावन नगर निगम की संभवतः पहली विधिवत बोर्ड बैठक होगी। हालांकि इससे पूर्व में हुई दो बैठकें जिसमें पहली बैठक केवल परिचयात्मक थी वहीं दूसरी बैठक नगर आयुक्त बनाम मेयर के विवाद की भेंट चढ़ गयी।

आशा है 29 को होने वाली बोर्ड बैठक काम काज के लिहाज से पहली बोर्ड बैठक होगी नगर निगम के गठन से लेकर अभी तक विकास के नाम पर जनता को कुछ नहीं मिला है ऐसे में देखना है कि आने वाली बैठक मथुरा वृन्दावन के निवासियों के लिए क्या सौगात लाने वाली होगी।

यह बहुत महत्वपूर्ण है कि मथुरा को शासकीय तौर पर तीर्थ स्थल घोषित कराये जाने को लेकर आम जनता में बहुत उत्कंठा है अभी हाल ही में प्रदेश सरकार द्वारा वृन्दावन, गोवर्धन, नंदगाँव, बरसाना, गोकुल और बलदेव तीर्थस्थल पूर्व में ही घोषित हो चुके हैं।

मथुरा भी इसमें शामिल हो इसके लिए स्थानीय राजनैतिक लोगों ने कभी गंभीरता नहीं दिखाई आज इस मामले में सामाजिक संस्था अभ्युदय से जुड़े लोगों ने महापौर डॉ मुकेश आर्यबन्धु से मुलाकात कर मथुरा को तीर्थ स्थल घोषित करने संबंधी प्रस्ताव बोर्ड बैठक में पारित कर अविलंब शासन को भेजने की मांग की।

संबोधित पत्र में Abhyudaya द्वारा सप्तपुरियों में श्रेष्ठ व भगवान श्रीकृष्ण की जन्मभूमि होने के कारण मथुरा का पुराण आदि में प्रमुख तीर्थो के रूप में वर्णन मिलता है अतः आगामी नगर निगम की होने वाली बोर्ड बैठक में मथुरा को तीर्थस्थल घोषित कराये जाने का प्रस्ताव पारित कर शासन को भेजा जाये।

अब देखना होगा कि क्या नगर निगम इस दिशा में कोई सार्थक पहल करेगा ?
Abhyudaya संस्था द्वारा पत्र सौंपे जाने के दौरान संस्था से जुड़े संजय लवानिया, अनुराग चतुर्वेदी, द्वारिकानाथ चतुर्वेदी, यशराज चतुर्वेदी, गौरव चौधरी, नीरज शर्मा(नट्टू पंडित), दुर्गेश शर्मा आदि लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »