कौशांबी: ग्रामीणों ने घेरकर दरोगा और सिपाही को बेहोश होने तक पीटा

कौशांबी। जनपद के कड़ा धाम थाने के एसआई और कॉन्स्टेबल सैनी थाना क्षेत्र के नरसिंगपुर कछुआ गांव में चोर को पकड़ने गए थे जहां आरोपी और उसके परिवार वालों ने दोनों को बुरी तरह पीटा, एसआई की हालत नाजुक है, उनका इलाज चल रहा है, साथ गए सिपाही भी घायल हुए हैं।

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में कानपुर के बिकरु गांव जैसी वारदात सामने आई है। बुधवार रात चोर को पकड़ने गए एक एसआई और कॉन्स्टेबल पर आरोपी और उसके परिवार वालों ने हमला कर दिया। उन्हें घेरकर पीटा और सरकारी पिस्टल भी छीन ली। हमले में घायल एसआई की हालत नाजुक है। कॉन्स्टेबल जख्मी हुआ है। पुलिस ने कुछ आरोपियों को हिरासत में ले लिया। छीनी गई पिस्टल बरामद कर ली है। आरोपियों पर रासुका लगाने की तैयारी है।

मामला सैनी थाना क्षेत्र के नरसिंगपुर कछुआ गांव का है। कड़ा धाम कोतवाली के एसआई कृष्ण राय सिंह और सिपाही दिलीप यादव ने बुधवार रात करीब 9 बजे मुखबिर की सूचना पर यहां दबिश दी। यहां चोरी के आरोपी सिंटू को हिरासत में लिया। इससे गुस्साए आरोपी के परिजन और गांववालों ने उन पर लाठियों से हमला कर दिया।

घायल सिपाही दिलीप यादव ने बताया कि एसआई कृष्ण राय ने अपने बचाव में सरकारी पिस्टल निकाली, जिसे भीड़ में किसी ने छीन लिया। बेसुध होकर जब वे जमीन पर गिर गए, तब भीड़ ने उन्हें पीटना बंद किया।

इस हमले के कुछ घंटे के बाद एसआई की मौत की खबर सामने आई लेकिन एसपी अभिनंदन ने इसका खंडन किया। उन्होंने बताया कि एसआई का अस्पताल में इलाज चल रहा है। उनकी हालत नाजुक है।

हमले की घटनाओं से सबक कब लेगी पुलिस?
कौशांबी जिले में यह पहली ऐसी घटना नहीं है। इससे पहले पश्चिम शरीरा थाना इलाके में भीड़ ने एसआई और सिपाही को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया था और पिस्टल छीन ली थी। इसके बाद ताजा मामला 2 जुलाई का है। जब कानपुर के बिकरु गांव में गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर हमला कर दिया गया था। इसमें 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *