संस्कृति यूनिवर्सिटी में खुला सेण्टर आफ एक्सीलेंस

मथुरा। संस्कृति यूनिवर्सिटी में MSME के सहयोग ले सेण्टर आफ एक्सीलेंस खोला गया। तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में संस्कृति विश्वविद्यालय ने बुधवार चार जुलाई को एक नया आयाम स्थापित किया। ब्रज क्षेत्र में रोजगारोन्मुख शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए प्रिंसिपल डायरेक्टर पी.पी.डी.सी. आगरा आर. पन्नीर सेल्वम द्वारा कुलपति डा. राणा सिंह, प्रति-कुलपति डा. अभय कुमार की उपस्थिति में रिबन काटकर संस्कृति विश्वविद्यालय परिसर में सेण्टर आफ एक्सीलेंस का शुभारम्भ किया गया। MSME के सहयोग से किसी उच्च शैक्षणिक संस्थान में खुला प्रदेश का यह पहला एक्सीलेंस सेण्टर है। इसके खुलने से छात्र-छात्राएं न केवल बड़ी कम्पनियों में रोजगार हासिल कर सकेंगे बल्कि स्वरोजगार के क्षेत्र में भी अपने सपनों को साकार कर सकेंगे।

संस्कृति यूनिवर्सिटी में MSME के सहयोग ले खुला सेण्टर आफ एक्सीलेंस
संस्कृति यूनिवर्सिटी में MSME के सहयोग ले खुला सेण्टर आफ एक्सीलेंस

संस्कृति यूनिवर्सिटी में खुले सेण्टर आफ एक्सीलेंस से अब अन्य प्रदेशों के साथ ही मथुरा जनपद के छात्र-छात्राएं भी आटोमेशन एण्ड रोबोटिक शिक्षा, सीएनसी जैसी आधुनिकतम तकनीक के क्षेत्र में दक्षता हासिल कर स्मार्ट इंजीनियर बनने का अपना सपना साकार कर सकेंगे। सेण्टर आफ एक्सीलेंस के शुभारम्भ अवसर पर कुलपति डा. राणा सिंह ने कहा कि दुनिया भर में तकनीकी क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन हो रहे हैं, ऐसे में युवा छात्र-छात्राओं को भी स्मार्ट तकनीक में दक्षता हासिल कर प्रतिस्पर्धी बनना चाहिए। आधुनिक उद्योग-धंधों में उत्पादन की पूरी प्रक्रिया डिजिटल होती जा रही है, ऐसे में छात्र-छात्राओं के लिए आधुनिक तकनीक को आत्मसात किया जाना बहुत जरूरी है।

इस अवसर पर आर. पन्नीर सेल्वम ने कहा कि तकनीकी शिक्षा कुशल जनशक्ति का सृजन कर, औद्योगिक उत्‍पादन को बढ़ाकर और लोगों के जीवन की गुणवत्‍ता में सुधार लाकर देश के विकास में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती है। भारत एक बड़ा औद्योगिक देश है। देश को अब स्मार्ट इंजीनियरों की जरूरत है, लिहाजा MSME युवाओं को तकनीकी दक्षता प्रदान कर उन्हें वैश्विक स्तर का प्रतिस्पर्धी बनाना चाहती है। श्री सेल्वम ने कहा कि युवाओं को लेकर संस्कृति यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति सचिन गुप्ता की सोच सराहना के काबिल है। कुलाधिपति श्री गुप्ता के प्रयासों से ही यहां सेण्टर आफ एक्सीलेंस खुल सका।

प्रति-कुलपति डा. अभय कुमार ने कहा कि समय के साथ चलकर ही हम देश का विकास कर सकते हैं। सूक्ष्म-लघु एवं मध्यम उद्यम MSME के सहयोग से संस्कृति विश्वविद्यालय में सेण्टर आफ एक्सीलेंस का खुलना समूचे ब्रज मण्डल के युवाओं के लिए लाभकारी है।

इस अवसर पर पी.पी.डी.सी. आगरा के असिस्टेंट डायरेक्टर राजकुमार, संस्कृति विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार पूरन सिंह, प्रो. निर्मल कुण्डू, विभागाध्यक्ष इंजीनियरिंग विंसेंट बालू, प्राध्यापक दिलीप सिंह, डा. दुर्गेश बाधवा, मुख्य वित्त अधिकारी अवधेश शुक्ला, आईटी हेड सुधांशु पी. शाह, लाइब्रेरियन रूपकिशोर शर्मा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »