नेपाल में नोट या सिक्के को नुकसान पहुंचाने पर कारावास और जुर्माना

काठमांडू। नेपाल सरकार अपने नोटों पर कुछ भी लिखने, फाड़ने, जलाने और यहां तक कि लाइन खींचने को आपराधिक मामला मानेगी। नेपाल सरकार ने 18 अगस्त से इन नए नियम को लागू करने का फैसला लिया है। सरकार ने अपने बयान में कहा कि क्रिमिनल प्रोसीजर कोड ऐक्ट 2007 के मुताबिक देश के करंसी नोट या सिक्के को नुकसान पहुंचाने पर तीन महीने तक का कारावास और जुर्माने के तौर पर 5000 नेपाली रुपये देने की सजा सुनाई जा सकती है।
नेपाल राष्ट्र बैंक, सेंट्रल बैंक ने अपनी सभी बैंक शाखाओं के निर्देश दिया है कि वह नए नियम को लागू कराने को सुनिश्चित करें। सेंट्रल बैंक ने एक आम जनता को भी इस बारे में सूचना दी है। एनआरबी के नोट प्रबंधन विभाग के प्रमुख लक्ष्मी प्रपान्ना निरौला ने कहा कि इस कानून के क्रियान्वयन से मुद्रा के जीवनकाल को बढ़ाने में मदद मिलेगी, जिससे एनआरबी को कुछ बचत होगी।
यह पहली बार है कि नेपाल में मुद्रा पर कुछ लिखने, उस पर चित्र आदि बनाने या उसे तोड़-मरोड़कर नुकसान पहुंचाने के खिलाफ कोई कानून बनाया गया है। इससे पहले केवल नकली मुद्रा को लेकर ही कानून था। NRB के चीफ करेंसी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के प्रमुख लक्ष्मी प्रपन्ना के मुताबिक ये प्रावधान शीघ्र लागू हो जाएगा। इससे NRB को बचत होगी। नेपाल में अभी 28 हजार करोड़ रुपये (458 अरब नेपाली रुपये) चलन में हैं। इसमें से 30 फीसदी नोट लाइन खींचने और उन पर लिखे जाने के कारण खराब हो गए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »