IIT Kanpur के वैज्ञानिक ने बनाया स्‍पेशल सोलर कुकर, प्रतिदिन बनेगी एक हजार बाटी

कानपुर। IIT Kanpur के वैज्ञानिक ने एक स्‍पेशल सोलर कुकर बनाया जिससे एक दिन में बनेगी एक हजार बाटी बनाई जा सकती हैं। प्रोफेशनली इससे अच्‍छे रिजल्‍ट

दिल्ली आईआईटी और कानपुर आईआईटी से शिक्षा प्राप्त कर चुके साइंटिस्ट डॉ. एके सिंह ने एक ऐसी सोलर मशीन तैयार कर दी है जो बेहद कम लागत में भारी संख्या में बाटी तैयार कर देती है। डॉ. सिंह का दावा है कि इस मशीन से सिर्फ दो मिनट के अंदर एक बाटी को पकाया जा सकता है। सोलर पैनल से बैटरी को पूरा चार्ज करने के बाद एक मशीन से प्रतिदिन एक हजार बाटी तक बनाई जा सकती है। सिंह के मुताबिक लगभग चार से पांच घंटे में सोलर मशीन पूरी तरह चार्ज हो जाती है। चार्जिंग के बाद मशीन को रात के समय भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

होती है कोयले की बचत

सोलर मशीन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसकी खरीद के बाद ईंधन के रुप में कोई खर्च नहीं होता। मशीन को डिजाइन करने वाले वैज्ञानिक डॉ. एके सिंह के मुताबिक इस तकनीकी से बाटी बनाने पर प्रतिदिन दस किलो तक कोयले की बचत होती है, यानी सिर्फ ईंधन के रुप में पांच सौ रुपये तक की बचत होती है। इसके अलावा इस तकनीकी से पर्यावरण को भी कोई नुकसान नहीं होता है।

इसकी लागत

डॉ. एके सिंह ने बताया कि उनकी यह मशीन 1.25 लाख रुपये से लेकर 2.50 लाख रुपये तक की कीमत में आती है। अलग-अलग जरुरत के हिसाब से इसे डिजाइन किया गया है। सिंह के मुताबिक जो युवा रोजगार के रुप में इसे अपनाना चाहते हैं, वे महज छोटी सी लागत के बाद एक अच्छी आय कर सकते हैं।

पिज्जा भी पका सकती है मशीन

डॉ. एके सिंह के मुताबिक यह सोलर मशीन बहुउद्देश्यीय सोच के साथ बनाई गई है। इस मशीन से बाटी, पिज्जा या उसके जैसी कोई भी अन्य चीज पकाई जा सकती है। IIT Kanpur के वैज्ञानिक डॉ. एके सिंह ने इस मशीन को दक्षिण अफ्रीका के गरीब देशों में प्रचारित करने का भी प्रयास किया है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »