NIA के IG ने कहा, गिरफ्तार किए गए लोगों के निशाने पर थे महत्वपूर्ण लोग और नेता

नई दिल्ली। दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 17 जगहों पर बुधवार को छापेमारी करने के बाद NIA ने बड़े खुलासे किए हैं। NIA ने बताया है कि आतंकी हमले करने की योजना थी। NIA के आईजी आलोक मित्तल ने कहा कि छापेमारी कुल 17 जगहों पर की गई है। गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से तकरीबन 7.5 लाख रुपये, लगभग 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड्स, लैपटॉप आदि मिले हैं।
बता दें कि NIA ने आतंकी संगठन ISIS के मॉड्यूल पर आधारित ‘हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम’ का पर्दाफाश किया है। ये पूरा मॉडल ISIS पर आधारित था और उत्तर प्रदेश-दिल्ली के कई इलाकों में सक्रिय था।
NIA ने प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी दी कि कई महत्वपूर्ण लोग और नेता गिरफ्तार किए गए लोगों के निशाने पर थे। जिस हिसाब की तैयारी की गई थी, उससे ऐसा लगता है कि भविष्य में रिमोट कंट्रोल और फिदायन हमले करने की योजना थी। यह आईएसआईएस से प्रेरित नया मॉड्यूल है। आरोपी विदेशी एजेंट के साथ संपर्क में थे।
एनआईए ने बताया कि 16 लोगों से शुरुआती पूछताछ के बाद 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने जानकारी दी कि दिल्ली के सीलमपुर और यूपी के अमरोहा, हापुड़, मेरठ और लखनऊ में छापेमारी की गई है और कुछ जगह छापेमारी अभी भी जारी है।
एनआईए की जानकारी के अनुसार, गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में विस्फोटक समान, हथियार और देश में बना रॉकेट लॉन्चर बरामद किया गया है।
आतंकी संगठन आईएसआईएस (ISIS) के नए मॉड्यूल से जुड़े एक मामले में बुधवार सुबह एनआईए (NIA) की टीम ने छापेमारी की। ये छापेमारी दिल्ली सहित मेरठ, हापुड़ और अमरोहा जिले में की गई है। एनआईए ने बुधवार को आतंकी संगठन ISIS के मॉड्यूल पर आधारित ‘हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम’ का पर्दाफाश किया है। ये पूरा मॉडल ISIS पर आधारित था और उत्तर प्रदेश-दिल्ली के कई इलाकों में सक्रिय था।
एनआईए, दिल्ली पुलिस और उत्तर प्रदेश एटीएस के सयुंक्त अभियान में बुधवार को कुल 16 जगहों पर छापेमारी की गई। इस मामले में अमरोहा से पांच, हापुड़ से एक और मेरठ से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिए जाने की सूचना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »