करियर बनाना चाहते हैं तो E-Commerce है अच्‍छा विकल्प

अगर आप सुनहरा करियर बनाना चाहते हैं तो E-Commerce क्षेत्र आपके लिए बहुत उपयुक्त विकल्प हो सकता है।
भारत समेत दुनियाभर में ऑटोमेशन, रोबॉटिक्स और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस जैसी तकनीक के विकास और इस्तेमाल से कई क्षेत्रों में रोज़गार खत्म हो रहे हैं। वहीं कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जहां जॉब्स की भरमार होने वाली है। इन्हीं क्षेत्रों में से एक क्षेत्र है E-Commerce का।
ताज़ा अनुमान के मुताबिक भारत में E-Commerce के क्षेत्र में साल 2023 तक 10 लाख नौकरियां आएंगी। वहीं अगर कुल सेल्स की बात की जाए तो अनुमान कहता है कि साल 2020 तक भारत में सालाना ई-कॉमर्स बिज़नेस से होने वाली बिक्री 100 बिलियन डॉलर यानी करीब 7000 अरब रुपये तक पहुंच जाएगी। और अगर 2026 तक के वक्त की बात करें तो तस्वीर काफ़ी अच्छी दिखती है। आकलन है कि 2026 तक भारत में ई-कॉमर्स बिज़नेस 200 बिलियन डॉलर यानी करीब 14000 अरब रुपये का हो जाएगा।
आंकड़े यह भी कहते हैं कि साल 2034 तक भारत ई-कॉमर्स के क्षेत्र में अमेरिका को भी पीछे छोड़ कर, चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ई-कॉमर्स बाज़ार बन जाएगा। भारत ई-कॉमर्स के क्षेत्र में सालाना 51 फ़ीसदी की दर पर आगे बढ़ रहा है। दरअसल, ई-कॉमर्स के क्षेत्र में भारत की इस करिश्माई ग्रोथ की वजह देश में इंटरनेट और स्मार्टफ़ोन का एक साथ तेज़ी से आगे बढ़ना है। इंटरनेट फ़ास्ट होने से ई-कॉमर्स की ग्रोथ और भी बढ़ सकती है।
ऐसे में इस क्षेत्र में अगर आप नौकरी पाना चाहते हैं या फिर नया बिज़नेस खोलना चाहते हैं तो सरकार आपकी मदद करेगी। भारत सरकार का ई-कॉमर्स बिज़नेस को बढ़ावा देने पर अब फ़ोकस है। एमएसएमई (MSME) यानी सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय का प्रोसेस ऐंड प्रोडक्ट्स डेवलपमेंट सेंटर(PPDC), आगरा, इसके लिए ट्रेनिंग का आयोजन करने जा रहा है। रविवार 10 फ़रवरी 2019 को पहली बार ट्रेनिंग सेक्टर-62, नोएडा में होगी।
ट्रेनिंग के तीन भाग
नोएडा में होने वाली 1 दिन की ट्रेनिंग में आपको ई-कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरु करना है, ई-कॉमर्स बिज़नेस मॉडल, ई-कॉमर्स बिज़नेस शुरु करने कहां जाएं, क्या होता है बिज़नेस इंक्यूबेटर, एंजल फ़ंड, वेंचर कैपिटल, प्राइवेट इक्विटी, और ऑनलाइन क्राउड फ़ंडिंग के बारे में जानकारी दी जाएगी। साथ ही फ़्लिकार्ट, ऐमज़ॉन और ओयो जैसी बड़ी कंपनियां कैसे काम करती हैं, के बारे में जाएगा।
इसी ट्रेनिंग में बताया जाएगा कि सोशल मीडिया और ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग के ज़रिए कैसे आप बेहद कम खर्चें से अपने ई-कॉमर्स बिज़नेस को आगे बढ़ा सकते हैं। कैसे आप ऑनलाइन ग्राहक बनाते हैं। ये भी 10 फ़रवरी को नोएडा में होने वाली ट्रेनिंग में बताया जाएगा।
ट्रेनिंग का ये प्रैक्टिकल भाग सबसे अहम है। जब आप ई-कॉमर्स के क्षेत्र में बिज़नेस करने जाएंगे तो रोज़ाना की समस्यों पर आपको प्रैक्टिकल सपोर्ट मिलेगा। ये सपोर्ट आपको फ़ोन पर मिलेगा। आपको फ़ोन नंबर दिया जाएगा, जिसपर कॉल कर आप गाइडेंस ले सकते हैं।
फ़ीस
ट्रेनिंग की कुल फ़ीस महज़ 3800 रुपये है। जिसमें 6 महीने का फ़ोन पर दिया जाने वाला प्रैक्टिकल सपोर्ट भी शामिल है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »