दिल को दुरुस्त रखना है तो भोजन में शामिल करें ये 7 चीजें

कोरोना संकट के बीच सबसे मुश्किल काम अगर कोई है तो वह है खुद को मेंटली और फिजिकली फिट रखना। दुनियाभर के देशों में अलग-अलग नियमों के साथ घर से बाहर निकलने की छूट भले ही मिल गई हो लेकिन पार्क और जिम जाना अभी भी किसी के लिए पहले की तरह आसान नहीं है। ऐसे में दिल को हेल्दी रखना बहुत मुश्किल होता है। यहां जानें कि आप अपने खाने में किन चीजों को शामिल करें ताकि कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ने से रोका जा सके।
सैचुरेटेड फैट से भरपूर चीजें
अपने भोजन में आपको ऐसी चीजों की मात्रा अधिक लेनी चाहिए, जिनमें सैचुरेटेड फैट कम हो। इससे आपको अपने शरीर में फैट और कोलेस्ट्रॉल दोनों को बढ़ने से रोकने में सहायता मिलेगी। इसके लिए आप अधिक मात्रा में फल और सब्जियों का उपयोग करें।
फल और सब्जी दोनों में ही सैचुरेटेड फैट यानी संतृप्त वसा कम होती है। इस कारण आपका कॉलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ पाता है। इसके साथ ही फल और सब्जियों सॉल्यूबल फाइबर अधिक होता है, इससे पेट जल्दी भर जाता है और लंबे समय तक भरा रहता है।
ऐसा इसलिए होता है फाइबर को पचाने में हमारे शरीर को जितना अधिक समय लगता है, उसे पचाने की प्रक्रिया हमारे शरीर के लिए उतनी ही आसान भी होती है। इस कारण लगातार हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती रहती है और हमें भूख भी जल्दी-जल्दी नहीं लगती है।
नट्स खाएं
गर्मी और बरसात के मौसम में नट्स खाने की सलाह कुछ लोगों को अचंभित कर देती है। खासकर उन लोगों को, जिन्हें भोजन की प्रकृति और मौसम के अनुसार उन्हें खाने का ज्ञान है लेकिन इस बार की गर्मी और बरसात दोनों ही हमेशा से अलग है। इसका कारण है कोरोना वायरस का संक्रमण।
यही वजह है कि हमेशा गर्मी में हल्दी का दूध पीने से मना करनेवाले आयुर्वेदिक डॉक्टर्स भी इस बार गर्मी में लगातार इस दूध के सेवन की सलाह दे रहे थे। अगर आप हर दिन मात्र 35 ग्राम नट्स का सेवन करते हैं और साथ ही दूध भी पीते हैं तो आपके दिल को सेहतमंद रहने से कोई रोग नहीं रोक सकता।
नट्स और ड्राई फ्रूट्स में विटमिन-ई, मैग्नीशियम, पोटैशियम जैसे जरूरी पोषक तत्व होते हैं। ये हमारे हृदय की कोशिकाओं को मजबूत रखने के साथ ही रक्त के प्रवाह को सही रखते हैं और नाड़ियों में लचक बनाए रखते हैं। इससे हमारे हृदय की धड़कन और पंपिंग में किसी तरह की बाधा नहीं आती है।
सोया प्रोटीन खाने का लाभ
कई अलग-अलग रिसर्च के माध्यम से हेल्थ एक्सपर्ट्स इस बात को साबित कर चुके हैं कि यदि कोई व्यक्ति हर दिन मात्र 15 ग्राम सोया प्रोटीन का सेवन करे तो वह अपने शरीर में बननेवाले कोलेस्ट्रॉल का स्तर 6 प्रतिशत तक कम कर सकता है।
ओट्स और बार्ले
ओट्स और बार्ले दोनों ही ऐसे भोज्य पदार्थ हैं, जिन्हें खाने के बाद शरीर के अंदर एक जेल फॉर्म का लिक्विड बनता है। यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है और हमारे पेट को देर तक भरा-भरा रखता है। डायटिशियन्स के अनुसार हर दिन कम से कम 3 ग्राम बीटा ग्लूकन खाना चाहिए। बीटा ग्लूकन एक सॉल्यूबल फाइबर है। यह ओट्स और बार्ले दोनों में पाया जाता है।
एवकाडो खाइए और कोलेस्ट्रॉल घटाइए
एवकाडो सेहत के लिए बहुत ही शानदार फल है। यह फल शुगर के रोगियों के लिए तो अमृत समान है। साथ ही लिवर की समस्याओं से भी बचाता है। अब बात करें दिल की सेहत की तो इसके लिए भी यह टॉनिक का काम करता है।
एवकाडो में मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड्स और जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये हमारे शरीर को पोषण देने के साथ ही, बढ़ रहे कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने का काम करता है। आप इस फल को सलाद के रूप में भी खा सकते हैं।
फलियां और दालें
हरी फलियों और साबुत दालों जैसे, राजमा, उड़द, चना, लोबिया, हरी मटर, मटर छोला आदि में सॉल्यूबल फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। साथ ही पाचनतंत्र को इन्हें पचाने में बहुत समय भी लगता है। इस कारण इन्हें भारी अनाज भी कहा जाता है। यह भारी अनाज हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रखता है। ध्यान रखें कि रात के खाने में इनका सेवन ना करें।
जिन्हें नॉनवेज पसंद है
जिन लोगों को नॉनवेज खाना पसंद है, वे अपने खाने में फिश का सेवन करें। ये लोग सप्ताह में दो से दिन बार फिश का सेवन करें। ऐसा करने से आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड की प्राप्ति होगी और आपके शरीर में कॉलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहेगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *