आप भी अपनी Oily Skin से परेशान तो नहीं रहतीं, खुश हो जाइए

अगर आप अपनी Oily Skin से हमेशा परेशान रहती हैं, तो अब खुश हो जाइए। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इस टाइप की स्‍किन के अपने ही जबरदस्‍त फायदे होते हैं।
Oily Skin वालों की एक ही दिक्‍कत होती है कि उनकी स्‍किन हमेशा चिपचिपी दिखाई दिखाई देती है। इस तरह कि स्‍किन पर कील-मुंहासे भी खूब होते हैं मगर ऐसा नहीं है कि इस स्‍किन के केवल नुकसान ही हैं। आपको जानकार हैरानी होगी कि अगर आपकी Skin Oily है तो आप जल्‍दी बूढ़ी नहीं होंगी।
जी हां, वैसे तो आपको शायद तमाम स्‍किन रिलेटेड प्रॉब्‍लम्‍स होती हों लेकिन जब आपको अपनी स्‍किन के फायदे सुनने को मिलेंगे तो आप कभी बुरा महसूस नहीं करेंगी। आइए जानते हैं, ऑयली स्‍किन के वो फायदे जो कम ही लोग जानते हैं।
​1. Oily Skin पर रहता है हर वक्‍त ग्‍लो
Oily Skin वाले लोगों में सिबेसियस ग्लैंड्स से निकलने वाला स्राव काफी तेज होता है जो कि स्‍किन के अंदर की परत को मोटा करता है। ऐसा होने पर उस जगह कि स्‍किन जहां पर झुर्रियां सबसे ज्‍यादा दिखाई पड़ती हैं, वह लचीलापन आता है।
​2. स्‍किन रहती है मॉइस्‍चराइज
अगर आपकी Skin Oily है तो आपको मेहंगी मॉइस्‍चराइजिंग क्रीम खरीदने की आवश्‍यकता नहीं है क्‍योंकि स्‍किन पोर्स से निकलने वाला सीबम, चेहरे को हाइड्रेटेड रखता है और ड्राय नहीं होने देता। आपके चेहरे पर हमेशा प्राकृतिक नमी बनी रहेगी।
​3. धूप से मिलती है सुरक्षा
आपकी स्‍किन से निकलने वाले तेल में विटामिन ई होता है, जो एक प्राकृतिक सनस्क्रीन और एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है। विटामिन ई में ऐसे गुण भी होते हैं, जो आपकी स्‍किन की सुरक्षा कड़ी धूप, वायु प्रदूषण और ठंडे मौसम से करते हैं।
4. नहीं पड़ती झुर्रियां
शोधकर्ताओं ने पाया है, कि तेल उत्पन्न करने वाली सिबेसियस ग्लैंड्स वाले क्षेत्रों में झुर्रियां कम पड़ती हैं। इसका मतलब यह नहीं है, कि आप अपनी स्‍किन के केयर करना बंद कर दें। सोने से पहले अपनी स्‍किन पर लाइट वेट मॉइस्‍चराइजिंग क्रीम या फिर अपना एंटी-एजिंग रूटीन फॉलो करना न भूलें।
5. नहीं पड़ती ज्‍यादा स्‍किन केयर प्रोडक्‍ट की जरूरत
इस तरह की स्‍किन पर बहुत ज्‍यादा क्रीम या मॉइस्‍चराइजर लगाने की आवश्‍यकता नहीं पड़ती। यही नहीं, अगर चेहरे पर फाउंडेशन भी लगाना हो, तो उसकी मांत्र कुछ बूंदों से काम चल जाएगा। ऑयली स्‍किन पर प्रोडक्‍ट्स आराम से अब्सॉर्ब हो जाते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *