ज्ञानदीप में Premchand जयन्ती पर ईदगाह नाटिका का मंचन

मथुरा। ज्ञानदीप श‍िक्षा भारती में उपन्यास सम्राट Premchand जयन्ती के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह के दौरान उनके संघर्षपूर्ण जीवन और साहित्‍य में उनके ऐतिहासिक योगदान का कृतज्ञतापूर्वक स्मरण किया गया।
समारोह का शुभारम्भ ज्ञानदीप के संस्थापक सचिव पद्मश्री मोहन स्वरूप भाटिया, प्राचार्या रजनी नौटियाल, शैक्षिक निदेशक प्रीति भाटिया, श‍िक्षक-श‍िक्षिकाओं आदि द्वारा प्रेमचन्द जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं छात्र-छात्राओं की करतल ध्वनि के साथ हुआ।

समारोह में छात्रा सिद्धि ने प्रेमचन्द की अध्यापक से साहित्यकार तक की संघर्ष एवं उपलब्धि पूर्ण यात्रा का परिचय दिया।
संस्थापक सचिव पद्मश्री मोहन स्वरूप भाटिया ने प्रेमचन्द की गोदान, गबन, सेवा सदन, रंगभूमि, कर्मभूमि आदि रचनाओं की चर्चा के मध्य कहा कि वह जमीन से जुड़े उपन्यासकार थे। शरतचन्द्र चट्टोपध्याय ने उन्हें ‘उपन्यास सम्राट की उपाधि प्रदान की थी।
मोहन स्वरूप भाटिया ने श‍िक्षक-श‍िक्षिकाओं से आग्रह किया कि वे श‍िक्षण के साथ साहित्य की विभिन्न विधाओं से भी परिचित रहें।
समारोह में प्रतिभाशाली बाल-कलाकार कार्तिक, कुशल, नीतेश, ऋषभ, अंकित, अनामिका, रश्म‍ि तथा देवेन्द्र ने पारस्परिक स्नेह-सौहार्द्र पर आधारित प्रेमचन्द की लोकप्रिय रचना ‘ईदगाह‘ का मंचन कर सभी को भाव-विभोर कर दिया।
कार्यक्रम समन्वयक थे संदीप कुलश्रेष्ठ तथा छात्र अक्ष भाटिया का विशेष योगदान रहा।

समारोह में सिद्धि नामक छात्रा ने प्रेमचन्द के जीवन और साहित्य से सभी विद्यार्थियों को अवगत कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *