ICC वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत एशेज सीरीज से

नई दिल्‍ली। एक अगस्त से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच ऐतिहासिक एशेज सीरीज की शुरुआत हो रही है। इसके साथ ही ICC की वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत हो जाएगी। द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज को इस चैंपियनशिप के जरिए नए आयाम मिलेंगे। ICC टेस्ट चैंपियनशिप का पहला एडिशन जून 2021 तक चलेगा। इसका फाइनल जून 2021 में क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स मैदान पर खेला जाएगा।
जानें पूरा इतिहास
ICC टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत तो अगले सप्ताह हो रही है। लेकिन पहले पहल इसका विचार 2010 में सामने आया था। शुरुआती प्लान में इसकी शुरुआत 2013 से होनी थी। इसे ICC चैंपियंस ट्रोफी के स्थान पर आयोजित करवाने का विचार था। हालांकि कुछ टीमों के विरोध के कारण इसे 2017 तक टाल दिया गया लेकिन वह भी अमल नहीं हो पाया। अब शुरू हो रही ICC टेस्ट चैंपियनशिप का विचार अक्टूबर 2017 में फाइनल हुआ।
कितनी होंगी टीमें
ICC रैंकिंग में चोटी की नौ टीमें इस टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा होंगी। ये टीमें हैं- भारत, इंग्लैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका, वेस्ट इंडीज, बांग्लादेश, न्यू जीलैंड, साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया। जिन मैचों में आयरलैंड और अफगानिस्तान शामिल होंगे उन्हें टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा नहीं होगे।
प्रारूप
सभी नौ टीमों को छह टीमों के खिलाफ खेलना होगा। इसमें तीन सीरीज घरेलू और तीन विदेशी होंगी। एक सीरीज में अधिकतम दो से अधिकतम पांच मैच हो सकते हैं।
कितने मैच होंगे
मैच सामान्य द्विपक्षीय सीरीज की तरह ही होंगे लेकिन अब हर मैच का महत्व पहले से अधिक होगा। मैच डे और डे-नाइट कैसे भी खेले जा सकते हैं, यह दोनों बोर्ड की सहमति पर निर्भर करता है। इस पहली टेस्ट चैंपियनशिप में कुल मिलाकर 27 सीरीज और 71 टेस्ट मैच खेले जाएंगे। लीग स्टेज में चोटी पर रहने वालीं दो टीमों के बीच जून 2021 को लॉर्ड्स में फाइनल मुकाबला होगा।
कब शुरू हो सकती है दूसरी चैंपियनशिप
पहली चैपिशनशिप समाप्त होने के बाद दूसरे की शुरुआत होगी जो अप्रैल 2023 तक चलेगी।
कैसे मिलेंगे पॉइंट्स
हर सीरीज के कुल 120 पॉइंट्स होंगे, जो हर सीरीज में मैचों के आधार पर तय होंगे। एक दो टेस्ट मैच की सीरीज में अधिकतम 60 अंक हासिल किए जा सकेंगे जबकि पांच मैचों की सीरीज में हर मैच से अधिकतम 24 अंक हासिल किए जा सकते हैं। टाई मैचों में जीत के मुकाबले आधे अंक मिलेंगे। वहीं ड्रॉ होने पर जीत के एक-तिहाई अंक मिलेंगे।
सीरीज में मैच        मैच जीतने पर कितने अंक     मैच टाई होने पर कितने अंक        मैच ड्रॉ होने पर कितने अंक       मैच हारने पर कितने अंक
2                                          60                                        30                                               20                                            0
3                                          40                                        20                                               13.3                                         0
4                                          30                                        15                                                10                                            0
5                                          24                                        12                                                8                                              0
क्या सभी नौ टीमों को वर्ल्ड चैंपियनशिप के दौरान आपस में खेलना जरूरी होगा?
नहीं। सभी नौ टीमों को कुल छह सीरीज खेलनी होंगी। इसका अर्थ यह है कि टीमों के मुकाबलों की संख्या कम या ज्यादा हो सकती है। लेकिन आईसीसी ने एक चैंपियनशिप के लिए अधिकतम 120 अंक निर्धारित करके कुछ संतुलन कायम रखने की कोशिश की है। यानी सीरीज कितनी भी बड़ी हो अधिकतम अंक 120 ही होंगे।
आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का पूरा कार्यक्रम

भारत- 18 टेस्ट
जुलाई-अगस्त 2019: 2 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (विदेशी दौरा)
अक्टूबर-नवंबर 2019: 3 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (घरेलू सीरीज)
नवंबर 2019: 2 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (घरेलू सीरीज)
फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (विदेशी दौरा)
दिसंबर 2020: 4 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (विदेशी दौरा)
जनवरी-फरवरी 2021: 5 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (घरेलू सीरीज)

इंग्लैंड- 22 टेस्ट
जुलाई-अगस्त 2019: 5 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (घरेलू सीरीज)
दिसंबर 2019-जनवरी 2020: 4 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (विदेशी दौरा)
मार्च 2020: 2 टेस्ट बनाम श्रीलंका (विदेशी दौरा)
जून-जुलाई 2020: 3 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (घरेलू सीरीज)
जुलाई-अगस्त 2020: 3 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (घरेलू सीरीज)
जनवरी-फरवरी 2021: 5 टेस्ट बनाम भारत (विदेशी दौरा)

ऑस्ट्रेलिया – 19 टेस्ट
जुलाई-अगस्त-सितंबर 2019: 5 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (विदेशी दौरा)
नवंबर 2019: 2 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (घरेलू सीरीज)
दिसंबर 2019-जनवरी 2020: 3 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (घरेलू सीरीज)
फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (विदेशी दौरा)
नवंबर-दिसंबर 2020: 4 टेस्ट बनाम भारत (घरेलू सीरीज)
फरवरी-मार्च 2021: 3 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (विदेशी दौरा)

साउथ अफ्रीका -16 टेस्ट
अक्टूबर 2019: 3 टेस्ट बनाम भारत (विदेशी दौरा)
दिसंबर 2019-जनवरी 2020: 4 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (घरेलू सीरीज)
जुलाई-अगस्त 2020: 2 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (विदेशी दौरा)
जनवरी 2021: 2 टेस्ट बनाम श्रीलंका(घरेलू सीरीज)
जनवरी-फरवरी 2021: 2 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (विदेशी दौरा)
फरवरी-मार्च 2021: 3 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (घरेलू सीरीज)

न्यू जीलैंड- 14 टेस्ट
जुलाई-अगस्त 2019: 2 टेस्ट बनाम श्रीलंका(विदेशी दौरा)
दिसंबर 2019-जनवरी 2020: 3 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (विदेशी दौरा)
फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम भारत (घरेलू सीरीज)
अगस्त-सितंबर 2020: 2 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (विदेशी दौरा)
नवंबर-दिसंबर 2020: 3 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (घरेलू सीरीज)
दिसंबर 2020: 2 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (घरेलू सीरीज)

श्रीलंका- 13 टेस्ट
जुलाई-अगस्त 2019: 2 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (घरेलू सीरीज)
अक्टूबर 2019: 2 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (विदेशी दौरा)
मार्च-अप्रैल 2020: 2 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (घरेलू सीरीज)
जुलाई-अगस्त 2020: 3 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (घरेलू सीरीज)
जनवरी 2021: 2 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (विदेशी दौरा)
फरवरी-मार्च 2021: 2 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (विदेशी दौरा)

पाकिस्तान- 13 टेस्ट
अक्टूबर 2019: 2 टेस्ट बनामश्रीलंका(घरेलू सीरीज)
नवंबर-दिसंबर 2019: 2 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (विदेशी दौरा)
जनवरी-फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (घरेलू सीरीज)
जुलाई-अगस्त 2020: 3 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (विदेशी दौरा)
दिसंबर 2020: 2 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (विदेशी दौरा)
जनवरी-फरवरी 2021: 2 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (घरेलू सीरीज)

बांग्लादेश- 14 टेस्ट
नवंबर 2019: 3 टेस्ट बनाम भारत (विदेशी दौरा)
जनवरी-फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम पाकिस्तान (विदेशी दौरा)
फरवरी 2020: 2 टेस्ट बनाम ऑस्ट्रेलिया (घरेलू सीरीज)
जुलाई-अगस्त 2020: 3 टेस्ट बनाम श्रीलंका(विदेशी दौरा)
अगस्त-सितंबर 2020: 2 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (घरेलू सीरीज)
जनवरी-फरवरी 2021: 3 टेस्ट बनाम वेस्ट इंडीज (घरेलू सीरीज)

वेस्ट इंडीज- 15 टेस्ट
जुलाई-अगस्त 2019: 2 टेस्ट बनाम भारत (घरेलू सीरीज)
जून-जुलाई 2020: 3 टेस्ट बनाम इंग्लैंड (विदेशी दौरा)
जुलाई-अगस्त 2020: 2 टेस्ट बनाम साउथ अफ्रीका (घरेलू सीरीज)
नवंबर-दिसंबर 2020: 3 टेस्ट बनाम न्यू जीलैंड (विदेशी दौरा)
जनवरी-फरवरी 2021: 3 टेस्ट बनाम बांग्लादेश (विदेशी दौरा)
फरवरी-मार्च 2021: 2 टेस्ट बनाम श्रीलंका (घरेलू सीरीज)
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *