आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड टूर्नामेंट: सेमीफाइनल में इंग्लैंड से हारी भारतीय टीम

एंटीगा। सर विवियन रिचर्डस स्टेडियम में शुक्रवार को खेले गए आईसीसी महिला वर्ल्ड टी20 के दूसरे सेमीफाइनल में भारतीय टीम को इंग्लैंड के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा है। भारत ने टॉस जीतकर 19.3 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 112 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड ने सिर्फ दो विकेट गंवाकर 17.1 ओवर में 116 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया।
इंग्लैंड की ओर से नतेली स्कीवर ने 54 और एमी जोंस ने 53 रन बनाए। भारत की ओर से राधा यादव और अंजू पाटिल ने एक-एक विकेट लिया। रविवार को फाइनल में इंग्लैंड का सामना ऑस्ट्रेलिया से होगा जिसने पहले सेमीफाइनल में गत चैंपियन वेस्ट इंडीज को हराकर लगातार पांचवीं बार फाइनल में जगह बनाई है।
113 रनों का लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सिर्फ चार के स्कोर पर ही उसकी सलामी बल्लेबाज टैमी ब्यूमोंट सिर्फ एक रन बनाकर आउट हो गईं। उन्हें राधा यादव की गेंद पर अरुंधति रेड्डी ने कैच किया। इसके बाद डेनियल वॉट 8 रन बनाकर दीप्ति शर्मा का शिकार बनीं।
इस तरह 5 ओवरों में 24 पर इंग्लैंड को दो विकेट गिर चुके थे और भारत को यहां थोड़ी उम्मीद जगी थी लेकिन विकेटकीपर एमी जोन्स और नताली स्कीवर ने भारतीय गेंदबाजों को कोई मौका नहीं दिया और 92 रनों की नाबाद साझेदारी करते हुए अपनी टीम को जीत दिला दी। जोन्स ने 47 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 53 और स्कीवर ने 39 गेंदों पर 5 चौकों की मदद से 53 रन बनाए।
इससे पहले, स्मृति मंधाना (34) ने भारतीय टीम को अच्छी शुरूआत दी लेकिन वह अधिक देर तक मैदान पर नहीं टिक सकीं। सोफी एक्लेस्टोन ने 43 के स्कोर पर स्मृति को पविलियन का रास्ता दिखाया। टीम के खाते में 10 रन ही जुड़ पाए थे कि सलामी बल्लेबाज तान्या भाटिया (11) भी पविलियन लौट गईं। उन्हें हीथर नाइट की गेंद पर नटाली स्कीवर ने कैच आउट किया।
जेमिमाह रोड्रिगेज (26) ने कप्तान हरमनप्रीत कौर (16) के साथ टीम की पारी को संभालने की कोशिश की। दोनों ने 36 रनों की साझेदारी कर टीम को 89 के स्कोर तक पहुंचाया लेकिन इसी स्कोर पर टैमी ब्यूमाउंट और एमी जोन्स ने जेमिमाह को रन आउट कर भारतीय टीम का तीसरा विकेट भी गिरा दिया।
हरमनप्रीत ने इसके बाद भारतीय टीम की अनुभवी बल्लेबाज वेदा कृष्णमूर्ति (2) के साथ टीम को मजबूत करने की कोशिश की लेकिन क्रिस्टी जॉर्डन ने इस योजना को विफल कर दिया। जॉर्डन ने 93 के स्कोर पर वेदा को जोन्स के हाथों कैच आउट कर पविलियन भेजा। 16वें ओवर की पहली गेंद पर वेदा का विकेट गिरा और इसी ओवर की आखिरी गेंद पर क्रिस्टी ने हरमनप्रीत को भी पविलियन का रास्ता दिखा दिया।
छठे विकेट के लिए दीप्ति शर्मा (7) और डेलन हेमलता (1) मैदान पर उतरीं लेकिन इंग्लैंड टीम की कप्तान नाइट ने यहां भारतीय टीम को बड़ा झटका दिया। उन्होंने 99 के कुलयोग पर पहले हेमलता को और उसके बाद इसी स्कोर पर अनुजा पाटिल को पवेलियन की राह दिखाई। अनुजा खाता भी नहीं खोल पाई थीं। भारतीय टीम ने 100 का आंकड़ा पार करने से पहले ही अपनी सात बल्लेबाजों को गंवा दिया।
इसके बाद दीप्ति का साथ देने आईं राधा यादव (4) भी अधिक समय तक मैदान पर नहीं टिक पाईं और 104 के स्कोर पर रन आउट होकर पविलियन लौट गईं। भारतीय टीम के खाते में आठ रन ही जुड़ पाए थे कि सोफी ने इस मैच में अपने दूसरे विकेट के रूप में अरुणधति रेड्डी (6) को आउट किया।
रेड्डी का विकेट 112 के स्कोर पर गिरा और इसी स्कोर पर इंग्लैंड की गेंदबाजों ने दीप्ति को भी रन आउट कर भारतीय टीम की पारी समाप्त कर दी। इंग्लैंड के लिए
गौरतलब है कि भारतीय टीम ने इस वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल से पहले तक हर मैच में एकतरफा प्रदर्शन किया, लेकिन आज उसका सामना उस टीम से था, जिसने एक साल पहले भारत को वनडे विश्व कप का खिताब जीतने से रोका था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »